ये है सुकमा हमले का मास्टरमाइंड!

तसीगढ़ के सुकमा में 25 सीआरपीएफ जवानों की शहादत के पीछे कुख्यात नक्सली नेता हिडमा का हाथ बताया जा रहा है. बताया जा रहा है कि कमांडर हिडमा ने तीन सौ के करीब नक्सलियों के साथ मिलकर इस हमले को अंजाम दिया. सीआरपीएफ पोजीशन लेकर बैठी थी कि तभी अचानक फायर किया गया. सूत्रों के मुताबिक नक्सली संगठन, पीपुल्स लिबरेशन ऑफ गुरिल्ला आर्मी (पीएलजीए) ने इस हमले को अंजाम दिया है.

इस साल 11 मार्च को सुकमा में जो हमला हुआ था जिसमें 12 जवान शहीद हुए थे उसका भी मास्टरमाइंड हिडमा ही था. खुफिया एजेंसियां उसके लोकेशन का पता नहीं लगा पा रही है. पीएलजीए की पहली बटालियन (पीएलजीए-1) का मुखिया हिडमा है. 25 साल का हिडमा सुकमा के पालोडी गांव का रहने वाला है. हिड़मा को घात लगाकर हमला करने का मास्टर माना जाता है. हिडमा और उसकी पीएलजीए1 बटालियन पिछले कुछ सालों में सीआरपीएफ पर यहां पर कई बड़े हमले कर चुका है. मैप पर ये नक्सली संगठन बुरकापाल और चिंतागुफा इलाकों में बेहद सक्रिय है.

Share With:
Rate This Article