खस्ता सड़कों से परेशान हिमाचल की बेटी का PM के नाम खत

हिमाचल प्रदेश की सड़कों की खस्ता हालत किसी से भी छिपी नहीं है। बता दें कि पी.डब्ल्यू.डी. विभाग मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने अपने पास रखा हुआ है। इस बीच मंडी जिले के करसोग की एक बेटी ने जब देखा कि उसके गांव की सड़क की हालत सुधारने की कोई कोशिश नहीं की जा रही तो उसने इस बारे पी.एम. नरेंद्र मोदी को चिट्ठी भेज दी। अब पी.एम.ओ. ने प्रदेश के मुख्य सचिव से इस बारे में जवाब मांगा है।

23 दिसम्बर को भेजा था पत्र
मेगली गांव की रहने वाली 23 साल की छात्रा कुसुम शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भेजकर जिला मंडी के दूरदराज के क्षेत्र करसोग उपमंडल में सड़कों को दुरुस्त करने के लिए गुहार लगाई गई थी। कुसुम ने लिखा था कि नरेंद्र मोदी जैसे प्रधानमंत्री को पाकर हम जैसे नागरिकों का मनोबल बढ़ा है। उम्मीद है कि वह इस समस्या का समाधान जरूर करेंगे। कुसुम ने ग्रामीणों की तरफ से पी.एम. को यह पत्र भेजा था। 23 दिसम्बर को भेजे गए पत्र पर पी.एम.ओ. ने संज्ञान लेकर प्रदेश के मुख्य सचिव से जवाब मांगा है।

क्या कहती है कुसुम
छात्रा कुसुम का कहना है कि मेगली गांव उपमंडल मुख्यालय से मात्र एक किलोमीटर दूर है और यहां से गुजरने वाली कच्ची सड़क कई गांवों को जोड़ती है। न सिर्फ इस सड़क की हालत बहुत खराब है बल्कि बाकी सड़कों का भी यही हाल है। पहाड़ी क्षेत्र की सड़कों की दुर्दशा के कारण हादसों में कई लोग जान गंवा चुके हैं। धूल-मिट्टी के कारण लोगों का स्वास्थ्य खराब हो रहा है। प्रशासनिक व विभागीय अधिकारी सड़कों की समस्या पर कोई गौर नहीं कर रहे हैं। उसने कहा कि प्रधानमंत्री के माध्यम से करसोग की सड़कों की बदहाली सुधर जाए तो करसोग क्षेत्र के लोगों के मुरझाए चेहरों पर आशा की किरण जाग उठेगी।

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment