श्रीनगर लोकसभा उपचुनाव में जीते फारुख अब्दुल्ला, पीडीपी से छीनी सीट

श्रीनगर

जम्‍मू-कश्‍मीर की श्रीनगर लोकसभा उपचुनाव में नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूख अब्‍दुल्‍ला को जीत मिली है. उन्‍होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी पीडीपी के नज़ीर अहमद को हराया. पिछले लोकसभा चुनाव में यह सीट पीडीपी नेता तारिक हमीद कर्रा ने जीती थी, लेकिन उन्होंने पार्टी से नाराज होकर इस्‍तीफा दे दिया था. इस कारण रिक्‍त हुई सीट पर यहां चुनाव हुए थे.

जम्‍मू-कश्‍मीर के हालिया हालात की वजह से भी इस वक्‍त इस सीट पर सबकी निगाहें थीं. इस सीट पर अब्‍दुल्‍ला समेत नौ प्रत्‍याशी मैदान में थे. शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में मतगणना हुई.

उल्‍लेखनीय है कि सन 2014 के लोकसभा चुनाव में अब्दुल्ला पहली बार हारे थे. राज्‍य की मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती के लिए भी उनकी लोकप्रियता के लिहाज से यह चुनाव अहम माना जा रहा था.

श्रीनगर लोकसभा उपचुनाव नौ अप्रैल को हुए थे, जिसमें सबसे कम 7.13 प्रतिशत मतदान हुआ था. मतदान के दिन हिंसा हुई थी, जिसमें आठ व्यक्तियों की मौत हो गई थी और सैकड़ों अन्य जख्मी हो गए थे. घायलों में सुरक्षा कर्मी शामिल थे, जो पथराव कर रहे प्रदर्शनकारियों के साथ संघर्ष में जख्मी हुए थे.

इसके बाद कई जगहों पर दोबारा बुधवार को पुनर्मतदान कराने का फैसला किया गया. बुधवार को हुए पुनर्मतदान में सिर्फ 2.02 फीसदी वोटिंग हुई. कश्मीर में यह अब तक का सबसे कम मतदान है. हलांकि, मतदान केंद्रों पर हिंसा की कोई बड़ी वारदात नहीं हुई. सभी जगह शांति या फिर कहें खामोशी छाई रही. बडगाम जिले के चादूरा, चरार-ए-शरीफ, खानसाहिब और बीरवाह तहसील के 38 मतदान केंद्रों पर दोबारा मतदान के आदेश दिए गए थे, क्योंकि यहां रविवार को हुए चुनाव के दौरान हिंसा से मतदान ठीक से नहीं पाया था.

उल्‍लेखनीय है कि पिछले वर्ष आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद हुए विरोध प्रदर्शनों के बाद पीडीपी नेता तारिक हमीद कर्रा ने लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था, जिसके कारण यह सीट रिक्त हो गई थी.

Share With:
Rate This Article