यमुना एक्सप्रेस-वे पर लूट में हुए नाकाम, तो लुटेरों ने किया चलती कारों पर पथराव

उत्तर प्रदेश के यमुना एक्सप्रेस वे पर वृन्दावन और जेवर टोल प्लाजा के बीच बुधवार रात करीब 11 बजे लुटेरों का कहर टूट पड़ा। उन्होंने लूटपाट के लिए कम से कम दस कारों को रोकने की कोशिश की। नाकाम होने पर कारों पर पथराव कर दिया। इनके शीशे चकनाचूर हो गए। इस हादसे में कम से कम छह लोग घायल हो गए।

पीड़ितों ने जेवर टोल प्लाजा पहुंचकर हंगामा कर दिया। आईजी – डीआईजी तक मामला पहुंच गया। मौके पर मथुरा और अलीगढ़ के पुलिस अफसर पहुंच गए। बदमाशों की तलाश की गई लेकिन कोई हाथ नहीं आया। पीड़ितों में शामिल दिल्ली के प्रीतम पुरा निवासी कारोबारी अमित ने बताया कि बदमाश वृन्दावन टोल प्लाजा क्रास करते ही उनके पीछे लग गए।

वह परिवार सहित सफारी कार में थे। बदमाश भी कारों में सवार थे। उन्होंने उनकी कार को रुकवाने की कोशिश की। इसमें नाकाम होने पर उन्होंने अपनी गाड़ी आगे निकाली और उनकी कार पर पत्थर फेंककर मारे। उनकी कार का शीशा टूट गया। इस बीच हालात ऐसे हो गए कि कार पलटते-पलटते बची। फिर भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी।

कार चलाते रहे और जेवर टोल प्लाजा पर पहुंचकर ही रुके। बदमाशों ने उनका पीछा किया लेकिन टोल प्लाजा से पहले ही रुक गए थे। दस गाड़ियों के शीशे टूटे टोल प्लाजा पहुंचकर पता चला कि वहां दस गाड़ियों के शीशे इसी तरह टूटे हुए थे। पांच -छह लोग लहुलुहान खड़े थे। ये सभी लोग भी आगरा से दिल्ली की तरफ जा रहे थे।

उनका भी यही कहना था कि बदमाशों ने पहले लूट की कोशिश की। वे नहीं रुके तो उनकी का पर पत्थर फेंक   दिए। उधर, इसकी सूचना आईजी सुजीत पांडे और डीआईजी महेश कुमार मिश्रा को दी गई। डीआईजी के निर्देश पर मथुरा से एसपी देहात और सीओ मौके पर पहुंचे। उधर अलीगढ़ पुलिस भी पहुंच गई। डीआईजी ने बताया कि  मामला बेहद गंभीरता से लिया है। बदमाशों की तलाश की जा रही है।

Share With:
Rate This Article