कराची के गैंगस्टर उज़ैर बलोच के साथ जोड़ा गया जाधव का नाम

इस्लामाबाद
पाकिस्तान द्वारा भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को भारतीय जासूस बताकर सजा-ए-मौत दिए जाने के ऐलान के बाद अब इस मामले में एक और नया मोड़ आया है। अब पाकिस्तान कराची के खतरनाक गैंगस्टर उज़ैर बलोच के साथ जाधव का नाम जोड़ रहा है। उज़ैर को पिछले साल जनवरी में पाकिस्तानी रेंजर्स ने कराची से गिरफ्तार किया था। 2 दिन पहले पाकिस्तानी सेना ने उसे अपनी हिरासत में ले लिया। पाक सेना अब यह दावा कर रही है कि उज़ैर पाकिस्तान के खिलाफ जासूसी करने में जाधव की मदद कर रहा था। हत्या जैसे अपराधों के अलावा उज़ैर पर ‘दुश्मन देशों के लिए जासूसी’ करने और पाकिस्तान-विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का भी आरोप है।

सबसे अहम पक्ष यह है कि पाकिस्तान ने उजै़र पर बलूचिस्तान में अलगाववादी संगठनों की मदद करने का भी आरोप लगाया है। उसका कहना है कि उज़ैर ने पाकिस्तान से अलग होने के लिए संघर्ष कर रहे बलोच संगठनों की मदद की। अब पाकिस्तान ने दावा किया है कि उज़ैर और जाधव का आपस में संपर्क था और वह जाधव की मदद कर रहा था। जाधव की ही तरह उज़ैर पर भी सैन्य अदालत में केस चलाया जाएगा।

जाधव का नाम उज़ैर से जोड़ने के पीछे क्या हो सकता है पाक का मकसद
उज़ैर पिछले 15 महीनों से पाकिस्तानी रेंजर्स की हिरासत में था। अब उसे सेना के हवाले कर दिया गया है। जिस पाकिस्तान आर्म्स ऐक्ट (PAA) के तहत जाधव पर केस चलाया गया, उसी कानून के तहत अब उज़ैर पर भी मामला दर्ज किया गया है। इतने लंबे समय बाद उज़ैर का नाम जाधव के साथ जोड़ने की पाकिस्तानी कोशिशों पर कई गंभीर सवाल उठ रहे हैं। पाकिस्तान ने जाधव के खिलाफ कोई भी ठोस सबूत पेश नहीं किया और ना ही उनके खिलाफ चल रहे केस से जुड़ी जानकारियां ही भारत के साथ साझा कीं। जाधव को सजा दिए जाने का ऐलान भी एकाएक किया गया। ऐसे में आशंका है कि पाकिस्तान अब जानबूझकर जाधव का नाम उज़ैर से जोड़ रहा है। उसकी इन कोशिशों के पीछे उसकी यह मंशा साफ दिख रही है कि वह भारत पर बलूचिस्तान में अस्थिरता पैदा करने का आरोप लगाए और अंतरराष्ट्रीय मंचों पर इसे मुद्दा बनाए। जाधव के मामले में भी पाकिस्तान लंबे समय से यह झूठ बोल रहा है कि उन्हें बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया। जाधव पर बतौर रॉ एजेंट बलूचिस्तान में अस्थिरता पैदा करने की साजिश में शामिल होने का भी आरोप लगाया गया। ऐसे में उज़ैर, जिस पर कि अलगावववादी बलोच संगठनों को समर्थन देने और उन्हें मजबूत बनाने का आरोप है, के साथ जाधव का नाम जोड़कर पाकिस्तान अपना अजेंडा साधने की कोशिश कर सकता है।

कौन है उज़ैर बलोच
उज़ैर के पिता एक ट्रांसपोर्टर थे। साल 2009 में कराची के एक कुख्यात अंडरवर्ल्ड सरगना रहमान बलोच की पुलिस मुठभेड़ में हुई मौत के बाद हुए लयारी गैंगवॉर में उज़ैर का नाम आया। इसके बाद उसने अपने विरोधी गिरोहों का खात्मा कर करीब-करीब अपनी एकछत्र सत्ता बना ली। इसके बाद लयारी और इसके आसपास के इलाकों में उज़ैर के गैंग का नियंत्रण हो गया। उज़ैर पर कई हत्याओं का आरोप है। उसका नाम कई फिरौती की घटनाओं से भी जुड़ा है। इसके अलावा तस्करी और पुलिस पर हमला करने के भी मामलों में वह आरोपी है। पाकिस्तान ने उसपर विदेशी खुफिया एजेंसियों के लिए जासू

Share With:
Rate This Article