अब डबल मीनिंग जोक्स को लेकर छिड़ा विवाद

कॉमेडियन कपिल शर्मा के शो में पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिद्धू के ‘ठहाकों’ और जुमलों पर अब एक और नया विवाद खड़ा हो गया है। सीनियर एडवोकेट एचसी अरोड़ा ने मुख्य सचिव को पत्र लिख कर आरोप लगाया है कि आठ अप्रैल को प्रसारित शो के दौरान सिद्धू ने अश्लील जुमले बोले।

वहीं, सिद्धू ने इसे नकारते हुए कहा कि अगर शो में अश्लीलता होती तो यह नंबर वन नहीं होता। अमर उजाला से बातचीत में सिद्धू ने कहा कि हाथी चले बीच बाजार, आवाजें आएं एक हजार। उनके शो करने को लेकर किसी तरह की समस्या नहीं है।

एडवोकेट जनरल भी उन्हें क्लीन चिट दे चुके हैं। रही बात अश्लीलता की, तो शो में अगर अश्लीलता होती तो यह नंबर वन शो नहीं होता। यह नंबर वन है, इसका मतलब लोगों की आवाज है।

फलदार पेड़ पर पत्थर लगते ही हैं, उन्हें भी निशाना बनाया जा रहा है। लेकिन अगर वह छह बार चुनाव जीते हैं तो यह लोगों की आवाज है। टीवी शो करने के बाद भी लोगों ने उन्हें जिताया। वह लोगों की आवाज को नजरंदाज कैसे कर सकते हैं।

एचसी अरोड़ा ने रविवार को मुख्य सचिव को पत्र लिखकर बताया कि आठ अप्रैल को प्रसारित कपिल शर्मा शो में सिद्धू ने अश्लील और द्विअर्थी जुमलों का प्रयोग किया। पत्नी और बेटियों के साथ शो देखते समय उन्हें काफी चोट पहुंची।

अरोड़ा ने आरोप लगाया कि सिद्धू ने आईपीसी और आईटी एक्ट की कई धाराओं का उल्लंघन किया। अरोड़ा ने मुख्य सचिव को लिखा कि यह मामला सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के ध्यान में लाया जाए, ताकि वह सिद्धू पर लगाम लगाएं।

अरोड़ा ने ही हाईकोर्ट में दायर की थी याचिका
सिद्धू के कपिल शर्मा के शो में काम करने का मुद्दा शुरू से ही विवादों से घिरा रहा है। विवाद बढ़ने के बाद सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एडवोकेट जनरल अतुल नंदा से राय मांगी थी। जिन्होंने सिद्धू को क्लीन चिट देते हुए कहा था कि इसमें कोई गलत बात नहीं है।

इसके बाद एडवोकेट एचसी अरोड़ा ने हाईकोर्ट में इसके खिलाफ याचिका दायर की थी। जिस पर सुनवाई 11 मई को होनी है। पिछली सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा था कि इस मामले में नैतिकता और शुचिता को भी देखना पड़ेगा।

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment