मोहन भागवत बोले- हिंसा ना करें गोरक्षक, गोहत्या पर देश में बने एक कानून

दिल्ली

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि गौहत्या के नाम पर कोई भी हिंसा हमारे उद्देश्य को बदनाम कर रही है और इसलिए कानून का पालन करना ही चाहिए.

उन्होंने गौहत्या के खिलाफ देशभर में एक कानून बनाने की पुरजोर वकालत की और निगरानी समूहों से पशुओं की रक्षा करते समय कानून का पालन करने के लिए कहा.

भागवत ने भगवान महावीर की जयंती के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, हम देशभर में गौवध पर रोक लगाने वाला कानून चाहते हैं. भागवत का यह बयान उस वक्त आया है जब तथाकथिक गोभक्तों द्वारा राजस्थान में एक व्यक्ति की हत्या करने से देश में राजनीतिक घमासान मचा हुआ है.

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले राजस्थान में अलवर के बहरोड़ में गो तस्करी के आरोप में एक युवक की पीटकर हत्या करने का मामला सामने आया. इस मामले में पुलिस ने 200 से अधिक लोगों के खिलाफ हत्या और लूट का केस दर्ज किया है.

दरअसल, शनिवार शाम को स्थानीय लोगों ने एक पिकअप वैन को पकड़ा, जिसमें गायें थीं. गुस्साए लोगों ने पहलू खान की जमकर पिटाई कर दी. वह गंभीर रुप से घायल हो गया. उसे पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन इलाज के दौरान सोमवार को उसकी मौत हो गई. लोगों ने पहलू के दो बेटों और अन्य दो लोगों की भी पिटाई की थी.

Share With:
Rate This Article