वॉशिंगटन : गोलीबारी में मूलरूप से पंजाब के रहने वाले 26 साल के विक्रम की मौत

वॉशिंगटन

यहां हुई गोलीबारी में एक भारतीय शख्स विक्रम जरयाल (26) की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि विक्रम, अमेरिका में 25 दिन पहले ही पहुंचा था। सुषमा ने बताया कि एजेंसियों को कोऑर्डिनेट करने के लिए कहा है और मामले की जांच की जा रही है।

गैस स्टेशन में काम करता था विक्रम
– सुषमा ने ट्वीट कर बताया, “विक्रम, वॉशिंगटन में एक फैमिली फ्रेंड के गैस स्टेशन में काम करता था।”
– सुषमा ने विक्रम के भाई से कहा, “आपके भाई की मौत पर मुझे काफी दुख है। मैंने अमेरिका स्थित भारतीय एम्बेसी को आपकी हरसंभव मदद करने को कहा है।”
– “6 अप्रैल को दो बदमाश रात में करीब 1.30 बजे उसकी शॉप में घुसे। उन्होंने विक्रम से कैश छीना और सीने में गोली मार दी।”
– “मामले की जांच के लिए हम सिक्युरिटी एजेंसियों से कोऑर्डिनेट कर रहे हैं। सीसीटीवी फुटेज निकाल लिए गए हैं और आरोपियों की तलाश की जा रही है।”
– “सैन फ्रांसिस्को स्थित भारतीय काउंसलेट पीड़ित परिवार की मदद कर रहा है। पुलिस अफसर घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए हैं।”

होशियारपुर का रहने वाला था विक्रम
– विक्रम के बड़े भाई ने बताया कि उनका परिवार पंजाब के होशियारपुर का रहने वाला है। करीब एक महीने पहले ही वे अमेरिका शिफ्ट हुए थे।
– विक्रम याकिमा सिटी के AM-PM गैस स्टेशन पर क्लर्क था। पुलिस के मुताबिक, विक्रम ने आरोपियों को पैसे दे दिए, लेकिन एक ने उस पर गोली चला दी।
– जरयाल को तुरंत पुलिस स्टेशन ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।
– पुलिस ने ये भी बताया, “विक्टिम ने हमें घटना के बारे में बताने की कोशिश की लेकिन बदकिस्मती से उसकी मौत हो गई।”
– याकीमा सिटी पुलिस डिपार्टमेंट के माइक बास्तीनेली के मुताबिक, “कोई तो होगा जो इस बारे में कुछ न कुछ जानता होगा। फोटोज बताती हैं कि आरोपियों ने खास तरह के कपड़े पहने हुए थे।”

हाल ही में अमेरिका में हुई कई घटनाएं
– 22 फरवरी को कंसास के एक बार में एडम पुरिन्टन नाम के शख्स ने खुलेआम गोलियां चलाईं। इसमें भारतीय मूल के इंजीनियर श्रीनिवास कुचीभोतला की मौत हो गई थी। उनके दोस्त आलोक मदसानी और बचाने वाला एक अमेरिकी इयान ग्रिलट घायल हो गए थे।
– गोली चलाते वक्त एडम ने कहा था- “मेरे देश से निकल जाओ।”
– इसके बाद नॉर्थ कैरोलिना में एक बिजनेसमैन हरनीश पटेल को गोली मारी गई।
– केंट में घर के बाहर एक सिख दीप राय को भी गोली मारी गई थी। हमले में वे घायल हो गए थे।
– इसके अलावा एकता देसाई नाम की महिला को एक ब्लैक शख्स ने ट्रेन में भद्दे कमेंट किए थे। इस घटना का वीडियो लाखो लोग देख चुके हैं। इसमें एक अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक एकता से कह रहा है, “अमेरिका से निकल जाओ।’ इस शख्स ने एकता को काफी भलाबुरा कहा और ‘फ्रीडम ऑफ स्पीच’ और ‘ब्लैक पावर’ जैसे शब्द भी इस्तेमाल किए।
– मार्च में अमेरिका में राजप्रीत हीर नाम की सिख लड़की पर एक शख्स ने चीखकर कहा था- “लेबनान वापस जाओ। तुम इस देश की नहीं हो।”

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment