कश्मीरी छात्रों पर नेशनल एंथम के अपमान का आरोप, ABVP ने जताया विरोध

जम्मू-कश्मीर में अब राष्ट्रगान को लेकर एक और विवाद तूल पकड़ रहा है. जम्मू यूनिवर्सिटी में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् ने कश्मीर वादी के कुछ छात्रों पर राष्ट्रगान के अपमान का आरोप लगाया है. परिषद के छात्रों ने इसे लेकर शुक्रवार को राज्य की पहली इंटर-यूनिवर्सिटी स्पोर्ट्स चैंपियनशिप के कई मैचों में खलल डाला. हालांकि यूनिवर्सिटी प्रशासन के साथ कश्मीर के छात्र भी आरोपों से इनकार कर रहे हैं.

क्या है मामला?
एबीवीपी के छात्र सोशल मीडिया पर वायरल एक तस्वीर को लेकर भड़के हुए थे. तस्वीर 3 अप्रैल को चैंपियनशिप के उद्घाटन के मौके पर खींची गई थी. आरोप हैं कि इस तस्वीर में कुछ छात्रों को राष्ट्रगान के दौरान आपस में बातचीत करते देखा जा सकता है.

खेल में खलल
घटना के विरोध में एबीवीपी छात्र शुक्रवार को जम्मू यूनिवर्सिटी और इस्लामिक यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नॉलॉजी के बीच चल रहे फुटबॉल के फाइनल मैच के दौरान मैदान में घुस आए. आंदोलनकारी छात्रों ने जमकर नारेबाजी की. इसके बाद वॉलीबॉल और बॉस्केटबॉल मैचों के दौरान भी ऐसा ही हंगामा देखने को मिला. एबीवीपी के स्थानीय नेताओं का कहना है कि जब तक कश्मीरी छात्र माफी नहीं मांगते, टूर्नामेंट में किसी मैच को पूरा नहीं होने दिया जाएगा.

यूनिवर्सिटी प्रशासन की प्रतिक्रिया
जम्मू यूनिवर्सिटी के उप-कुलपति प्रोफेसर आर डी शर्मा के मुताबिक एबीवीपी के आरोपों की जांच की जाएगी. लेकिन टूर्नामेंट में खलल बर्दाश्त नहीं होगा. विश्वविद्यालय के खेल और शारीरिक शिक्षा निदेशालय के डायरेक्टर प्रोफेसर अवतार सिंह जसरोटिया ने एबीवीपी के छात्रों को राष्ट्रगान पर सियासत ना करने की सलाह दी है. उन्होंने बताया कि जिन मैचों में व्यवधान डाला गया, उन्हें शनिवार को दोबारा आयोजित किया जाएगा.

कश्मीरी छात्रों की सफाई
दूसरी ओर, मुकाबलों में हिस्सा ले रहे कश्मीरी छात्रों ने राष्ट्रगान के अपमान की बात से इनकार किया है. उनके मुताबिक एबीवीपी छात्रों के कहने पर फुटबॉल फाइनल के बीच में दोबारा राष्ट्रगान गाया गया लेकिन इससे भी आंदोलनकारी शांत नहीं हुए.

पाकिस्तानी राष्ट्रगीत पर हुआ था विवाद
इससे पहले कश्मीर के गांदरबल में एक क्रिकेट टूर्नामेंट के दौरान कुछ खिलाड़ी पाकिस्तानी टीम की ड्रेस में मैदान पर उतरे थे और पाकिस्तान के राष्ट्रगान पर खड़े हुए थे. घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद इन खिलाड़ियों को गिरफ्तार किया गया था.

Share With:
Rate This Article