आज संसद में GST के 4 बिल पर हो सकती है वोटिंग, राहुल-येचुरी में हुई चर्चा

गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स से जुड़े 4 विधेयक गुरुवार को वापस लोकसभा में पेश किए जा सकते हैं। लेफ्ट सदन में इन पर वोटिंग चाहता है। बता दें कि चारों बिल 29 मार्च को लोकसभा में अमेंडमेंट के साथ पास हो चुके हैं। इससे पहले इन विधेयकों पर राहुल ने बुधवार को सीपीआई (एम) के जनरल सेक्रेटरी सीतारात येचुरी से 45 मिनट तक चर्चा की। समझा जाता है दोनों नेताओं के बीच विधेयकों में संशोधन (amendments) को लेकर अपनाई जाने वाली रणनीति को लेकर बातचीत हुई।

इनडायरेक्ट टैक्स सिस्टम पर उठे सवाल
– न्यूज एजेंसी और मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राहुल एक संशोधन पर लेफ्ट का सपोर्ट चाहते हैं। ये चारो बिल राज्यसभा में बुधवार को पेश किए गए थे, जहां विपक्ष ने इनडायरेक्ट टैक्स सिस्टम लागू करने की सरकार की तैयारियों पर सवाल किए। विपक्ष ने अपील की कि टैक्स पेयर्स को टैक्स अथॉरिटीज के हैरेसमेंट से बचाने पर विचार किया जाए। जीएसटी से जुड़े इन 4 बिल में सेंट्रल गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स बिल (CGST), इंटिग्रेटेड गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स बिल (IGST), यूनियन टेरीटरी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स बिल (UTGST) और कॉम्पेनसेशन टू स्टेट्स बिल शामिल हैं।

ये सिर्फ मोदी का अचीवमेंट नहीं: जयराम रमेश
– कांग्रेस लीडर जयराम रमेश ने राज्यसभा में बुधवार को कहा, जीएसटी को मौजूदा लेवेल तक लाने में कई पीएम और फाइनेंस मिनिस्टर्स का अहम रोल रहा है और इस कदम को केवल नरेंद्र मोदी के अचीवमेंट के तौर पर पेश नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह एक आइडियल बिल नहीं है क्योंकि इसमें कई तरह की छूट और पाबंदियां हैं इसलिए इसे इकोनॉमी की तस्वीर बदलने वाला क्रांतिकारी विधेयक नहीं कहा जा सकता। हालांकि यह इस दिशा में एक अहम कदम जरूर है। इससे जीडीपी में डेढ से 2% की बढ़ोतरी की बात सही नहीं है।

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment