सीरिया अटैक पर US बोला, ‘UN ने जिम्मेदारी नहीं निभाई, तो हम खुद करेंगे कार्रवाई’

वॉशिंगटन

अमेरिका ने यूनाइटेड नेशन्स में गुरुवार को कहा कि अगर सीरिया में हुए केमिकल अटैक पर कोई कार्रवाई नहीं की गई तो वह अपने स्तर पर आगे बढ़ सकता है। यूएन सिक्युरिटी काउंसिल की मीटिंग में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने इस हमले का जिक्र किया। उधर, यूएस प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प ने इस हमले को इंसानियत के खिलाफ बताया है। बता दें कि सीरिया के नॉर्थ-वेस्ट इदलिब प्रोविन्स में मंगलवार को हवाई हमलों के बाद उठी जहरीली गैस से करीब 100 लोगों की मौत हो गई। इनमें 11 बच्चे शामिल थे।

अमेरिका खुद कार्रवाई कर सकता ​ है
– गुरुवार को यूएन सिक्युरिटी काउंसिल की मीटिंग में निक्की हेली ने कहा कि अगर यूनाइटेड नेशन्स अपनी जिम्मेदारी निभाने में लगातार नाकामयाब रहता है, ऐसे कई मौके आते हैं जब हमें खुद एक्शन में आने की जरूरत होती है।
– हेली ने यह भी कहा कि जब तक रूस सीरिया की सरकार को सपोर्ट करता रहेगा, तब तक उसकी आर्मी केमिकल अटैक करती रहेगी। उन्होंने कहा कि इस हमले का सबसे ज्यादा असर बच्चों पर पड़ा है।
– हालांकि, सीरिया आर्मी ने केमिकल वेपन्स के इस्तेमाल से इनकार किया है। सरकार का भी कहना है कि वह कभी भी इस तरह के वेपन्स को लड़ाई में इस्तेमाल नहीं करेगी।

ट्रम्प ने कहा- यह हमला कई सीमाओं को लांघ गया
– प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि सीरिया में हुआ केमिकल अटैक कई सीमाओं को लांघ गया। इस घटना के बाद उनका सीरिया में बशर अल-असद की सरकार को लेकर उनका नजरिया बदल गया है। उन्होंने इस हमले को इंसानियत पर किया गया हमला बताया।
– बता दें कि ट्रम्प का यह बयान उस वक्त आया, जब जॉर्डन के सुल्तान अब्दुल्ला उनके साथ ही व्हाइट हाउस में मौजूद थे।
– अमेरिका के डिफेंस मिनिस्टर जिम मैटिस ने इस हमले की निंदा। उन्होंने कहा कि इसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

यूएस के रुख में बदलाव आएगा
– व्हाइट हाउस के प्रेस सेक्रेटरी सीन स्पाइसर ने कहा कि इस घटना के बाद सीरिया को लेकर अमेरिका के रुख में तब्दीली आएगी, क्योंकि इस हमले की शक्ल में असद सरकार की सच्चाई अमेरिका के सामने आई है।
आतंकियों ने गोदाम में जमा की थी जहरीली चीजें: रूस
– रूस की डिफेंस मिनिस्ट्री के बयान में कहा गया, “रूस के एयरस्पेस कंट्रोल के डाटा के मुताबिक, सीरिया के एयक्राफ्टस ने खान शेखौन में आतंकियों के एक बड़े वेयरहाउस पर हमला किया। इसमें जहरीली चीजें जमा करके रखी गई थीं। इनसे बम बनाए जा रहे थे।”

सरकार पर दमिश्क पर भी हमले का आरोप
– सीरिया की सरकार पर वेस्टर्न कंट्रीज ने राजधानी दमिश्क पर केमिकल अटैक करने का आरोप लगाया था। उसमें 500 लोग मारे गए थे।
– प्रेसिडेंट बशर अल असद ने उन आरोपों को गलत बताया था। उन्होंने कहा था कि विद्रोही केमिकल अटैक कर सरकार को बदनाम कर रहे हैं।

Share With:
Rate This Article