रेपो रेट 6.25 प्रतिशत पर स्थिर, RBI ने रिवर्स रेपो रेट 0.25 प्रतिशत बढ़ाया

दिल्ली

भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति यानी एमपीसी (मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी) ने गुरुवार को रिवर्स रेपो रेट में 0.25 पॉइंट की बढ़ोतरी करते हुए उसे 5.75 फीसदी से बढ़ाकर 6 फीसदी कर दिया है. वहीं, रेपो रेट को 6.25 पर यथावत रखा गया है.

मॉनेटरी पॉलिसी की घोषणा के बाद आयोजित प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में आरबीआई की तरफ से बताया गया कि अर्थव्‍यवस्‍था के आधार पर अगले कदम तय किए जाएंगे. साथ ही यह भी बताया कि फरवरी के बाद से बैंकों में आई नकदी को काफी हद तक नियंत्रित कर लिया गया है.

आरबीआई का मानना है कि अगली 3 से 4 तिमाही में नकदी को पूरी तरह से कंट्रोल कर लिया जाएगा. केंद्रीय बैंक को अंदेशा है कि अप्रैल से सितंबर 2017 के बीच सरकारी खर्च बढ़ सकता है.

वहीं, कर्ज माफी से नाखुश होते हुए कहा कि इससे ईमानदार करदाता हतोत्‍साहित होते हैं और नैतिक खतरा भी बढ़ता है. इसलिए कर्ज माफी को रोकना चाहिए.

केंद्रीय बैंक को आशंका है कि कमजोर मानसून और जीएसटी से बाजार पर जो प्रभाव पड़ेगा उससे महंगाई बढ़ सकती है.

कुल मिलाकर आज की मॉनेटरी पॉलिसी को बाजार में सकारात्‍मक लिया है और उम्‍मीद जताई जा रही है कि इसका अच्‍छा प्रभाव देखने को मिलेगा.

Share With:
Rate This Article