झारखंड को पीएम ने दी कई सौगतें, कहा- भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी

साहिबगंज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को झारखंड पहुंचे जहां उन्होंने कई योजनाओं का शिलान्यास किया. इनमें गंगा पुल के अलावा मल्टी मॉडल बंदरगाह की आधारशिला के साथ ही साहिबगंज-गोविंदपुर मनिहारी सड़क का शुभारंभ भी शामिल है. प्रधानमंत्री ने इस दौरान झारखंड को 4 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट्स की सौगातें भी दी.

इस दौरान पीएम मोदी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि गरीब का पैसा उस तक पहुंचेगा और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी और इस लड़ाई में मैं पीछे हटने वाला नहीं हूं. गरीबों को लूटने वालों को नहीं छोड़ेंगे.

इससे पहले उन्होंने कहा कि प्रोजेक्ट पर 2200 करोड़ रुपए खर्च होंगे. इससे दो राज्यों को फायदा होगा और युवाओं को रोजगार मिलेगा. उनके मुताबिक, विकास से ही बदलाव संभव होगा. मोदी ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार इस इलाके की तरक्की के लिए विकास की योजनाएं शुरू हो रही हैं.

मोदी ने कहा कि गरीब से गरीब, आदिवासी और पिछड़ों के जीवन में अगर बदलाव लाना है तो उसका एकमात्र उपाय विकास है. उन्होंने कहा कि झारखंड विश्व बाजार से जुड़ जाएगा. झारखंड में विकास का नया द्वार खुल रहा है.

इससे पहले यहां पहुंचने पर प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू और मुख्यमंत्री रघुवर दास ने स्वागत किया. इसके बाद मंत्री लुईस मरांडी ने भी संताली में प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत किया. राज्यपाल ने कहा कि झारखंड की यह बेटी आपका सिदो कान्हू की धरती पर स्वागत करती हूं. इसके बाद प्रधानमंत्री ने पुल और बंदरगाह का शिलान्यास किया. गुमला की पहाड़िया बटालियन की महिला जवान को नियुक्ति पत्र दिया.

गंगा पुल से बिहार व झारखंड दोनों को फायदा होगा तो साहिबगंज में मल्टी मॉडल बंदरगाह वाराणसी को हल्दिया से सीधे जोड़ेगा. इससे साहिबगंज से वाराणसी और साहिबगंज से हल्दिया तक जलमार्ग से व्यापार की राह आसान होगी.

6.2 किलोमीटर लंबे गंगा पुल का निर्माण पर 21 सौ करोड़ की लागत आएगी. तीन वर्ष के भीतर पुल निर्माण कार्य पूरा करा लिए जाने का लक्ष्य है. पुल निर्माण कार्य का शुभारंभ स्थानीय लोगों के तीन दशक के संघर्ष के सुखद परिणाम के रूप में सामने होगा. पुल निर्माण की मांग को लेकर मनिहारी व साहिबगंज के लोग लगातार संघर्षरत रहे हैं.

Share With:
Rate This Article