कश्मीर में नदियां उफान पर, बाढ़ जैसे हालात, बचाव कार्य में जुटी सेना

श्रीनगर

बाढ़ और बारिश से बेहाल जम्मू और कश्मीर में भारतीय सेना एक बार फिर देवदूत बनकर उतरी है. सेना के जवानों ने बाढ़ प्रभावित इलाकों में अपना राहत ऑपरेशन शुरू कर दिया है. कश्मीर घाटी के पांजीपोरा में राष्ट्रीय रायफल्स (आरआर) के जवान बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने में जुटे हुए हैं. सेना के जवान इसके साथ ही रिहायशी इलाकों की तरफ बह रहे नालों का रुख मोड़ने में भी लगे हैं.

बता दें कि कश्मीर घाटी में लगातार बारिश और बर्फबारी के कारण बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है. झेलम और उसकी सहायक नदियों में जलस्तर बढ़ने के बाद घाटी में बाढ़ संबंधी अलर्ट जारी किया गया है. इसके साथ ही तूफान की आशंका को लेकर भी हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं.

पिछले तीन दिनों से राज्य के कई इलाकों में बिना मौसम के बर्फबारी और लगातार बारिश होने के कारण प्रादेशिक प्रशासन ने गुरुवार को कश्मीर घाटी के सभी स्कूलों को सोमवार तक बंद करने के आदेश दिए हैं.

भारी बारिश के कारण घाटी की ज्यादातर झीलों, नदी और नालों में जलस्तर बढ़ गया है. बाढ़ नियंत्रक विभाग ने झीलों और नदियों के जलस्तर की निगरानी के लिए गुरुवार को अपने सभी सहकर्मियों को चौबीसों घंटे अपने स्थानों पर तैनात रहने का निर्देश दिया.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment