संसद में बोलीं सुषमा- PoK, गिलगित, बाल्टिस्तान समेत पूरा कश्मीर हमारा

दिल्ली

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को कहा कि गिलगित, बाल्टिस्तान को पांचवा प्रांत बनाने के पाकिस्तान के कदम को भारत पूरी तरह से खारिज करता है और इस संकल्प को दोहराता है कि पीओके, गिलगित और बाल्टिस्तान समेत पूरा का पूरा कश्मीर भारत का है.

लोकसभा में एक सांसद द्वारा यह मुद्दा उठाए जाने पर विदेश मंत्री ने अपने जवाब में यह बात कही. इसके पहले ब्रिटेन की संसद ने भी गिलगित-बाल्टिस्तान को भारत का संवैधानिक हिस्सा बताते हुए पाकिस्तान द्वारा इसे अलग प्रांत घोषित करने के प्रस्ताव की निंदा की थी.

बुधवार को लोकसभा में बीजू जनता दल के सांसद भर्तृहरि महताब के सवाल का जबाव देते हुए विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान का यह कदम किसी भी सूरत में भारत को स्वीकार्य नहीं है. उन्होंने कहा, ‘सरकार समेत पूरा का पूरा सदन इस भावना से संबद्ध करता है कि पूरा का पूरा कश्मीर हमारा है. गिलगित, बाल्टिस्तान को पाकिस्तान द्वारा पांचवां प्रांत बनाने की खबर जब आई तभी भारत सरकार ने इसे बिना समय गंवाये खारिज किया.’

सुषमा ने कहा कि कश्मीर के बारे में लोकसभा और राज्यसभा दोनों में प्रस्ताव पारित है, संसद ने प्रस्ताव पारित किया है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर और गिलगित-बाल्टिस्तान समेत पूरा का पूरा कश्मीर हमारा है.

उन्होंने कहा कि आज जिसकी सरकार है, उस पार्टी का तो नारा ही रहा है कि ‘जहां हुए बलिदान मुखर्जी वो कश्मीर हमारा है, जो कश्मीर हमारा है, वह सारा का सारा है.’ विदेश मंत्री ने कहा कि संसद का संकल्प तो है ही और हम तो स्वयं के संकल्प से भी बंधे हुए हैं.

इससे पहले शून्यकाल के दौरान BJD के सांसद महताब ने इस विषय को उठाते हुए कहा, ‘पाकिस्तान की सरकार ने गिलगित, बाल्टिस्तान को अपना पांचवां प्रांत घोषित किया है. कश्मीर, गिलगित, बाल्टिस्तान राजशाही क्षेत्र रहे थे. गिलगित और बाल्टिस्तान की व्यवस्था देखने वाले एक अंग्रेज अधिकारी ने पाकिस्तान को वहां फौज भेजने की अनुमति प्रदान की थी.’

उन्होंने आगे कहा, ‘इस क्षेत्र को भारत अपना हिस्सा मानता है. अब जबकि पाकिस्तान ने इसे पांचवां प्रांत घोषित किया है तब सरकार का इसपर क्या रुख है, क्योंकि हमें इतिहास नहीं भूलना चाहिए. जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. पूरा का पूरा कश्मीर भारत का हिस्सा है. क्या सदन में कोई ऐसा संकल्प सरकार लायेगी?’

Share With:
Rate This Article