EVM को लेकर राज्यसभा में जमकर हुआ हंगामा

इलेक्टॉनिक वोटिंग मशीन(EVM) को लेकर राज्य सभा में बुधवार को जमकर हंगामा हुआ, सदन की कार्यवाही को कुछ देर के लिए स्थगित कर दिया गया। इस मुद्दे पर चर्चा के दौरान विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने ईवीएम के इस्तेमाल पर रोक लगाने की मांग की। हंगामे से नाराज राज्यसभा उपसभापति पीजे कुरियन ने कहा कि EVM में छेड़छाड़ का मुद्दा चुनाव आयोग के सामने उठाइए, इसका सदन से लेना-देना नहीं है।

राज्य सभा में ईवीएम इस्तेमाल पर चल रही चर्चा के दौरान विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, ‘ईवीएम का इस्तेमाल तत्काल प्रभाव से रोक दिया जाना चाहिए। दिल्ली में होने वाले निकाय चुनावों, गुजरात विधानसभा चुनावों और अन्य राज्यों में इसका इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए।’

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिले प्रचंड बहुमत पर सवाल उठाते हुए आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग से ईवीएम में छेड़छाड़ की जांच के लिए डिवाइस जारी किए जाने की मांग की थी। इसके दो दिन बाद अब कांग्रेस ने ईवीएम सिस्टम को खत्म करने की मांग की है।

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद विपक्षी पार्टियां ईवीएम में गड़बड़ी और उनसे छेड़छाड़ के आरोंपों को लेकर मुखर हैं। आज कांग्रेस द्वारा ईवीएम का इस्तेमाल रोके जाने की मांग और इस मुद्दे पर चर्चा के दौरान हंगामे को देखते हुए राज्य सभा की कार्यवाही भी कुछ देर के लिए स्थगित कर दी गई गई थी।

समाजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल ने परोक्ष तौर पर बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘अगर चिप की प्रोग्रामिंग में कोई गड़बड़ी है तो बीजेपी की जीत होगी।’ बीजेपी नेताओं प्रकाश जावड़ेकर और मुख्तार अब्बास नकवी ने इन आरोपों को खारिज किया और नकवी ने कहा, ‘इन आरोपों का कोई आधार नहीं है। बिहार में भी ईवीएम के जरिए ही वोटिंग हुई थी। 2004 और 2009 लोकसभा चुनावों में भी ईवीएम का इस्तेमाल किया गया था। जब यूपी में समाजवादी पार्टी की जीत हुई थी, तब भी ईवीएम वोटिंग ही हुई थी।’

बहरहाल, चुनाव आयोग दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आरोपों को सिरे से खारिज कर चुका है और उसने कहा कि ईवीएम में गड़बड़ी की कोई गुंजाइश नहीं है। आयोग ने आप से कहा था कि ईवीएम को दोष देने की बजाय आप पंजाब में अपने प्रदर्शन पर मंथन करे।

केजरीवाल ने कहा था कि उनके एक्सपर्ट 72 घंटे के समय में यह दिखा सकते हैं कि किसी पार्टी को फायदा पहुंचाने के लिए कैसे ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की जा सकती है।

Share With:
Rate This Article