CM योगी का पहला इंटरव्यू: बूचड़खानों और राम मंदिर पर खुलकर बोले

दिल्ली

योगी आदित्यनाथ ने यूपी का सीएम बनने के बाद अपना पहला इंटरव्यू दिया है. आरएसएस के मुखपत्र ‘पांञ्चजन्य’ को दिए गए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में योगी ने कहा है कि राम जन्मभूमि विवाद को बातचीत से ही सुलझाना चाहिए.

उन्होंने कहा कि हमने दोनों पक्षों से आग्रह किया है कि संवाद से समाधान करा रास्ता निकालें. यदि सरकार से सहयोग चाहते हैं तो हम इसके लिए तैयार हैं.

इस इंटरव्यू में उन्होंने अवैध बूचड़खानों पर की जा रही कार्रवाई को भी कानूनसंगत बताते हुए इसका बचाव किया है. आदित्यनाथ ने कहा कि वह अदालत के निर्देश का ही पालन कर रहे हैं.

बूचड़खानों पर कार्रवाई से राज्य में मीट की कमी होने के सवाल पर योगी ने कहा कि कोई शाकाहारी बनेगा तो स्वस्थ रहेगा. फिर भी मैं किसी का स्वाद नहीं बदल सकता. हर व्यक्ति का अपना स्वाद हो सकता है और मैं प्रतिबंध भी नहीं लगा सकता. भारत के संविधान ने उन्हें स्वतंत्रता दी है, पर एक दायरे में रहकर.

इस इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों का बकाया तुरंत चुकाया जाएगा. अगले 6 महीनों में प्रदेश में 6 नई चीनी मिलों का शिलान्यास किया जाएगा. हम ऐसी व्यवस्था करने जा रहे हैं, जिसके तहत गन्ना किसानों का भुगतान 14 दिनों के अंदर सीधे उनके खातों में हो जाए.

इसके अलावा उन्होंने कहा, हमने यह भी तय किया है कि उत्तर प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों को 24 घंटे बिजली देंगे. 20 घंटे तहसील मुख्यालयों को और 18 घंटे गांवों को बिजली देंगे. इसके अलावा 2019 तक पूरे प्रदेश को 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराएंगे.

उन्होंने कहा कि पहली बार हमने उत्तर प्रदेश में एक एनआरआई विभाग बनाया है. दूसरे राज्यों ऐसा विभाग नहीं है. हम उत्तर प्रदेश के अप्रवासी लोगों को राज्य में पूंजी निवेश के लिए आमंत्रण देंगे. पलायन रोकने पर जोर है. सिंगल विंडो सिस्टम लागू करने जा रहे हैं. हमारी शर्त होगी कि 90 प्रतिशत रोजगार स्थानीय लोगों को मिले.

कुछ विदेशी अखबारों द्वारा उन्हें मुख्यमंत्री बनाने की आलोचना करने पर योगी ने कहा कि जिन्हें भारत की सुख समृद्धि से अच्छी नहीं लगती, जिन्हें इस देश में अंतिम व्यक्ति की खुशहाली देखकर अच्छा नहीं लगता, वो नकारात्मक टिप्पणी करेंगे.

योगी ने कहा कि पूरे प्रदेश की आबादी को ध्यान में रखकर योजनाएं बन रही हैं. पूर्वी उत्तर प्रदेश और बुंदेलखंड पर खास ध्यान देंगे. बुंदेलखंड की समस्या का समाधान निकालने में लगे हुए हैं. समीक्षा का मेरा पहला दौरा बुंदेलखंड से ही शुरू होने जा रहा है. उन्होंने कहा कि बुदेलखंड के खेतों में पानी पहुंचाने के लिए कार्ययोजना तैयार की जा रही है.

सपा के कार्यकाल में प्रदेश में हुए दंगों को लेकर भी उन्होंने कहा कि तब सत्ता गलत हाथों में थी. दंगाइयों को संरक्षण दिया जाता था, लेकिन हमने स्पष्ट कहा है कि अपराधी कोई भी हो उससे सख्ती से निपटा जाएगा. जो भेदभाव करेगा वो कार्रवाई के लिए तैयार रहे.

योगी ने कहा कि देश के अंदर बहुत से लोग ऐसे हैं जिन्हें भगवा रंग अच्छा नहीं लगता. उन्हें भगवा रंग से परहेज है. अभी तक जो लाग सेकुलरिज्म के नाम पर, तुष्टीकरण के नाम पर देश की परंपरा और संस्कृति को अपमानित कर रहे थे, अब उन्हें अपने अस्तित्व पर खतरा दिखाई दे रहा है. इसलिए मेरे बारे में भ्रांतियां पैदा करने की कोशिश की जा रही है.

Share With:
Rate This Article