अब बैंक खाते में आएगी क्रिकेटर्स की पेमेंट

सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर (सीओए) ने फैसला किया है कि सभी स्तर के क्रिकेटर्स को अब ऑनलाइन पेमेंट के जरिए खातों में सीधे पैसा भेजा जाएगा। इस फैसले के बाद विराट कोहली और उनकी टीम ही नहीं बल्कि घरेलू खिलाड़ी, जिनमें महिला-पुरुष क्रिकेटर्स, जूनियर-सीनियर सभी स्तर के खिलाड़ी इस दायरे में आएंगे।

मौजूदा प्रक्रिया के मुताबिक बोर्ड खिलाड़ियों की फीस को उनके राज्य एसोसिएशन को भेजता है, जिसके बाद एसोसिएशन के द्वारा चेक के माध्यम से खिलाड़ियों को पेमेंट किया जाता है। घरेलू स्तर पर इस प्रणाली में कई खामियां सामने आईं।

कई मामलों में क्रिकेटर्स के पेमेंट को रोका गया
खिलाड़ियों के एकाउंट में पैसा सीधा ट्रांसफर करने का सीओए का ये फैसला उस वक्त सामने आया है जब पता चला कि राज्य की एसोसिएशन के जरिए कई मामलों में क्रिकेटर्स का पेमेंट रोका गया है।

इस फैसले के बाद सभी खिलाड़ियों को अपनी केवाईसी (KYC) डिटेल देनी होगी, जिसके बाद पैसा सीधे उनके एकाउंट में ट्रांसफर कर दिया जाएगा।

बीसीसीआई के सूत्र बताते हैं कि पूर्व में खिलाड़ियों के साथ दुर्व्यवहार के मामले सामने आए हैं, लेकिन हमें सिर्फ उन मामलों का पता ही चल पाता है जिनमें शिकायत दर्ज की जाती है।

खिलाड़ियों को राज्य एसोसिएशन के भरोसे नहीं बैठना पड़ेगा
सूत्र कहते हैं कि उन मामलों का क्या जो सामने नहीं आ पाते हैं? ऑनलाइन पेमेंट्स के जरिए हम इस बात से निश्चिंत हो सकते हैं कि खिलाड़ियों को उनका पैसा मिल रहा है। उनकी फीस के लिए उन्हें अपनी राज्य की एसोसिएशन के भरोसे नहीं बैठना पड़ेगा।

उदाहरण के तौर पर असम क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव बिकास बरुआ को पिछले साल खिलाड़ियों के साथ दुर्व्यवहार के मामले में निलंबित किया गया था। एसीए की अनुशासनात्मक समिति को जांच में BCCI की तरफ से स्टेट एसोसिएशन को भेजे गए 61 चेक बरुआ के पास से मिले थे।

इसी तरह के एक अन्य मामले में एक टीम ने रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया तो टीम को 5 लाख रुपये की राशि दी गई, जिसे खिलाड़ियों में बांटा जाना था। वहीं रिपोर्ट्स के मुताबिक खिलाड़ियों को दी गई इनामी राशि वितरित नहीं की गई।

Share With:
Rate This Article