तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा का अरुणाचल दौरा, बौखलाया चीन

तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा के अरुणाचल दौरे को लेकर चीन की बौखलाहाट एक बार फिर से सामने आई है. ड्रैगन ने धमकी दी कि अगर भारत ने दलाई लामा को अरुणाचल प्रदेश की यात्रा करने की इजाजत दी, तो द्विपक्षीय रिश्ते खराब हो सकते हैं. उसने यह भी कहा कि भारत तिब्बत के मुद्दे पर अपने राजनीतिक संकल्पों का पालन करे.

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने दलाई लामा के अरूणाचल दौरे के सवाल पर कहा, ‘‘हम इसको लेकर बेहद चिंतित हैं. भारतीय सीमा के पूर्वी हिस्से पर चीन का रुख स्पष्ट है।’’उन्होंने दावा किया कि अरूणाचल प्रदेश दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा है. उसने कहा कि भारत दलाई लामा की असलियत जानता है, लेकिन फिर भी उनको इस क्षेत्र में आमंत्रित कर रहा है.

कहा-दलाई लामा की असलियत से वाकिफ है भारत
लू कांग ने कहा कि दलाई गुट का अलगाववादी गतिविधियों में शामिल रहने का रिकॉर्ड है. भारत दलाई लामा की असलियत से वाकिफ है. लिहाजा उसको दलाई के असली व्यवहार को लेकर बेहद स्पष्ट होना चाहिए. यदि भारत दलाई लामा को इस इलाके की यात्रा के लिए आमंत्रित करता है, तो इसका द्विपक्षीय संबंधों पर बुरा असर पड़ेगा. दलाई लामा चार से 13 अप्रैल तक अरूणाचल प्रदेश का दौरा करेंगे. इस महीने में यह दूसरी बार है, जब चीनी विदेश मंत्रालय ने दलाई लामा की प्रस्तावित यात्रा पर एतराज जताया है.

पहले भी भड़क चुका है ड्रैगन
इससे पहले चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा था कि चीन दलाई लामा के अरुणाचल प्रदेश दौरे को लेकर बेहद चिंतित है. भारत की ओर से दलाई लामा को अरुणाचल प्रदेश की इजाजत देने के फैसले से द्विपक्षीय संबंध खराब हो सकते हैं. साथ ही चीन-भारत सीमावर्ती इलाकों में शांति बिगड़ सकती है. हालांकि भारत ने ड्रैगन की इस दखलंदाजी को कोई तवज्जो नहीं दी.

Share With:
Rate This Article