बीजेपी के ‘गाय प्रेम’ पर ओवैसी ने कसा तंज, कहा- यूपी में ममी, पूर्वोत्तर में यमी

दिल्ली

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्‍तेहादुल मुस‍लमीन (एआईएमआईएम) के अध्‍यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने गौ-माता के बचाव को लेकर चलाए जा रहे अभियान पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर निशाना साधा है. यूपी में अवैध बूचड़खानों और गौ-तस्करी पर पूरी तरह से रोक लाने के आदेश के पर ओवैसी ने कहा, ‘बीजेपी का पाखंड यह है कि उत्तर प्रदेश में गाय उसकी मम्मी है लेकिन नॉर्थ ईस्ट में वह यम्मी है।’

बता दें कि यूपी के सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ ने पुलिस को गौ-तस्करी को पूरी तरह से रोकने और अवैध बूचड़खानों को बंद करने के एक्शन प्लान बनाने के निर्देश दिए थे. इसके बाद से यूपी में अवैध बूचड़खानों के खिलाफ लगातार कार्रवाई जारी है. कई बूचड़खानों को प्रशासन द्वारा बंद किया जा चुका है. बीजेपी ने अपनी चुनावी घोषणा पत्र में इस बात का ऐलान किया था.

वहीं, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने नार्थ ईस्ट राज्यों में आगामी चुनाव को लेकर बीफ बैन न करने का ऐलान किया है जिस पर ओवैसी ने निशाना साधा. बीजेपी ने ऐलान किया कि अगर नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में वह सत्ता में आएगी तो बीफ बैन नहीं करेगी. नॉर्थ ईस्ट के तीन राज्यों में अगले साल चुनाव होने हैं. नॉर्थ ईस्ट में रहने वाले ज्यादातर लोग ईसाई धर्म को मानते हैं और वहां बीफ ज्यादा खाया जाता है.

मेघालय, मिजोरम और नागालैंड में ईसाईयों की संख्या बहुत ज्यादा है और वे सभी लोग बीफ खाते हैं. नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में से मेघालय और मिजोरम में कांग्रेस की सरकार है. वहीं, नागालैंड में भाजपा ने गठबंधन के साथ सरकार बनाई हुई है.

हाल में मणिपुर में हुए विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा ने सरकार बना ली है. वहां पहले कांग्रेस की सरकार थी. असम में बीजेपी पिछले साल जीती थी. इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश में भी बीजेपी ने 2016 में राजनीतिक उठा-पटक के बाद सरकार बनाई थी.

2011 की जनगणना के मुताबिक, नागालैंड में कुल 20 लाख लोग रहते हैं जिसमें से 88 प्रतिशत लोग ईसाई धर्म के हैं. वहीं मिजोरम में 87 प्रतिशत और मेघालय में 75 प्रतिशत ईसाई हैं. वहां पर गौहत्या पर पाबंदी नहीं है.

Share With:
Rate This Article