भ्रष्टाचार के आरोप में साउथ कोरिया की अपदस्थ राष्ट्रपति को हिरासत में लिया गया

सियोल

अदालत से गिरफ्तारी आदेश जारी होने के बाद दक्षिण कोरिया की अपदस्थ राष्ट्रपति पार्क ग्यून-ही को हिरासत में ले लिया गया. भ्रष्टाचार और सत्ता के दुरुपयोग का सामना कर रही पूर्व राष्ट्रपति को गुरुवार देर रात हिरासत में लिए जाने के बाद शुक्रवार को उनके विरोधी खुशी मना रहे हैं. समर्थकों ने रिहा करने की मांग करते हुए प्रदर्शन किया.

अभियोजकों ने अभी तक पार्क के खिलाफ औपचारिक आरोप तय नहीं किए हैं. अभियोजकों ने रिश्वत लेने, अधिकार का दुरुपयोग करने और सरकारी गोपनीयता भंग करने का संदेह जाहिर किया है.

अदालत ने कहा है, ‘गिरफ्तारी के लिए न्यायसंगत आरोप अनिवार्य है. आशंका है कि सुबूत नष्ट कर दिए गए होंगे.’ एशिया की चौथी बड़ी अर्थव्यवस्था दक्षिण कोरिया में पार्क ऐसी तीसरी पूर्व नेता हैं जिन्हें भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार किया जा सकता है. उनके मामले में नेताओं के साथ ही सैमसंग जैसे बड़े कारोबारी घराने भी फंसे हैं. दक्षिण कोरिया की पहली महिला राष्ट्रपति के जीवन में यह नाटकीय मोड़ माना जा रहा है.

Share With:
Rate This Article