कर्नाटक के विधायकों का कंपनियों को सुझाव, महिलाओं से न कराएं रात की शिफ्ट

चैन्ने

कर्नाटक में विधायकों की एक समीति ने प्रस्ताव जारी किया है कि महिलाओं को नाइट शिफ्ट पर ना बुलाया जाए और कंपनियों को सलाह दी गई है कि जितना हो सके महिलाओं को नाइट शिफ्ट से दूर ही रखा जाए.

इस प्रस्ताव का महिला कर्मचारियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने विरोध किया. उनका कहना है कि यह प्रस्ताव राज्य को पीछे ले जाने वाला है और अगर इसे माल लिया जाएगा तो कार्यस्थल पर महिलाओं की जगह कम होती चली जाएगी. आलोचकों ने यह भी कहा कि 26 हफ्तों की मातृत्व छुट्टी देने का नियम भी कामकाजी महिलाओं को हतोस्ताहित करने वाला है.

विधानसभा में अपनी 32 रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए सोमवार को विधायिका की ओर से निर्मित महिला और बाल कल्याण समिति ने कहा कि वो IT और BT कंपनियों में महिला के रात की शिफ्ट में काम करने की पक्षधर नहीं है. समिति का कहना है कि महिलाओं को सुबह या दोपहर की शिफ्ट दी जानी चाहिए.

विधायिका पैनल ने चेयरमैन एनए हैरिस ने दावा किया कि महिलाओं के पास और भी कई काम होते हैं जैसे घर और बच्चों की देखभाल.

Share With:
Rate This Article