योगी का ‘ट्रिपल अटैक’, क्या कर पाएंगे सिस्टम को दुरुस्त ?

योगी सरकार ने सिस्टम सुधारने के लिए कमर कस लिया है. सीएम योगी का सारा फोकस सिस्टम को दुरुस्त करने, करप्शन और क्राइम पर नकेल कसने पर है. 10 दिन पहले सत्ता संभालने वाले सीएम योगी ने पिछले 24 घंटों में ताबड़तोड़ फैसले कर अपराधियों और सिस्टम की गठजोड़ पर सीधा प्रहार किया है. परीक्षा में नकल रोकने के लिए सीएम योगी ने शिकायतों के लिए हेल्पलाइन नंबर और व्हाट्सएप नंबर जारी किए हैं और कार्रवाई के लिए डेडलाइन भी तय कर दी है.

लचर सिस्टम पर ये है सीएम योगी का ट्रिपल अटैक-

1. नकल से जुड़ी शिकायतों पर 3 घंटे में एक्शन
यूपी की लचर शिक्षा व्यवस्था और परीक्षा में नकल पर सीएम योगी ने सबसे बड़ा प्रहार किया है. मंगलवार को यूपी सरकार ने वाट्सऐप नंबर 9454457241 जारी किया. इस नंबर पर नकल से जुड़ी शिकायत की जा सकेगी जिसके बाद 3 घंटों के अंदर कार्रवाई की जाएगी. नकल रोकने के लिए सरकार ने कंट्रोल रूम बनाने का भी फैसला किया है. इसके अलावा, योगी आदित्यनाथ की सरकार ने एक लैंडलाइन नंबर भी जारी किया है, जो 0522-2236760 है. नकल पर नकेल के लिए सीएम योगी ने डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के साथ मीटिंग में कड़े निर्देश जारी किए.

2. माफिया-अपराधियों से सांठगांठ पर अफसर होंगे बर्खास्त
सिस्टम की मिलीभगत से माफिया और अपराधियों की यूपी में अब चांदी नहीं रहेगी. सीएम योगी ने सचिवालय में गृह विभाग की अहम बैठक बुलाई और राज्य की कानून-व्यवस्था को सुधारने के उपायों पर कड़े निर्देश दिए. बैठक में योगी ने ये निर्देश दिए कि जो भी पुलिसवाले भूमाफियाओं, वन माफियाओ, गो तस्करों और क्रिमिनल्स के साथ मिले हैं उन्हें नौकरी से बर्खास्त किया जाना चाहिए. जो भी पुलिसवाले किसी भी तरह के क्राइम में शामिल हैं, उन्हें पहचाना जाए और कार्रवाई हो. मुकदमा किया जाए.

3. लोगों के बीच जाकर काम करे सिस्टम, लापरवाही पर एक्शन शुरू
गांवों में पुलिसवालों को पैदल गश्त करने के लिए कहा जाए, जिससे लोगों से जुड़ाव हो. नोएडा में नाइजीरियन छात्रों पर हमले वाली घटना और लखनऊ में बढ़ती लूट की घटनाओं को गंभीरता से लेने को कहा. साथ ही कहा कि हर डीजी-एडीजी अपने तीन महीने के काम का रोडमैप तैयार करे और उसके हिसाब से काम करें. मंगलवार को लखनऊ में आईजी सतीश गणेश ने कई थानों और एसएसपी दफ्तरों में छापा मारा. छापेमारी के दौरान ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में 5 पुलिस अधिकारियों समेत 12 पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी.

Share With:
Rate This Article