पत्थरबाजों ने बडगाम एनकाउंटर को मुश्किल बना दिया था: DIG सीआरपीएफ

श्रीनगर

जम्मू कश्मीर के बडगाम में आतंकवादियों को बचाने के लिए गांव वालों ने सुरक्षा बलों पर जमकर पत्थर बरसाए. जवाबी कार्रवाई में तीन पत्थरबाजों की मौत हो गई, जबकि सेना और पुलिस के 63 जवान भी जख्मी हो गए. इस एनकाउंटर में एक आतंकी भी ढेर हुआ.

सोमवार सुबह छदूरा इलाके के एक घर में 2 आतंकियों के छिपे होने की खबर के बाद तड़के सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी की और मुठभेड़ शरू हुई. आखिरकार सुरक्षाबलों ने उस घर के एक हिस्से को बारूद से उड़ा दिया, जहां आतंकी छिपे थे.

गौरतलब है कि घाटी में पिछले वर्ष से ही मुठभेड़ स्थलों के पास नागरिकों के इकट्ठा होने और सुरक्षा बलों के साथ झड़प का रूझान देखने को मिला है. आतंकवाद-निरोधी अभियानों के दौरान युवाओं के हस्तक्षेप के खिलाफ सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत की चेतावनी के बाद भी यह जारी है और मुठभेड़ स्थल के तीन किलोमीटर की परिधि में राज्य प्रशासन द्वारा धारा 144 लगा रहा है.

वहीं, ऑपरेशन खत्म होने के बाद सीआरपीएफ के डीआईजी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि, ‘ऑपरेशन बहुत कठिन था. कुछ लोगों ने पत्थरबाजी करके और जवानों को अपशब्द बोलकर इसे और मुश्किल बना दिया.’ उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ के 40 जवान और 20 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं और पता लगा है कि 20 ‘पत्थरबाज’ भी घायल हुए हैं.

इससे पहले, उप चुनाव के प्रचार अभियान के दौरान जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के काफिले पर अचबाल अनंतनाग में पत्थरबाजी की गई. पत्थरबाजी के मामले पर मुफ्ती की तीखी प्रतिक्रिया सामने आई है. उन्होंने युवाओं के आतंक से जुड़ने को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया. महबूबा मुफ्ती ने सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी की कड़ी आलोचना की. हालांकि, पुलिस ने कहा कि मुख्यमंत्री के काफिले पर पत्थरबाजी नहीं हुई.

बडगाम एनकाउंटर पर सीएम महबूबा मुफ्ती ने तीखी प्रतिक्रिया दी. महबूबा मुफ्ती ने कहा कि राज्य के युवाओं का आतंक के साथ जुड़ा दुर्भाग्यपूर्ण है. महबूबा मुफ्ती ने कहा कि आतंकियों को सुरक्षाबलों ने सरेंडर करने को कहा लेकिन उन्होंने नहीं किया. बडगाम में सुरक्षा बलों ने आतंकियों की ओर से इस्तेमाल की गई कार को जब्त कर लिया है.

अलगाववादियों ने बडगाम जिले में मुठभेड़ स्थल के निकट प्रदर्शन के दौरान तीन नागरिकों की मौत के खिलाफ बुधवार को आम हड़ताल का आह्वान किया है और घटना की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है.

Share With:
Rate This Article