वाराणसी: दो दिवसीय G-20 आधिकारिक स्तर सम्मेलन शुरू

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संसदीय सीट वाराणसी में आज से G-20 फ्रेमवर्क वर्किंग ग्रुप की दो दिवसीय बैठक शुरू हो गई है. इस महत्वपूर्ण बैठक में विकसित और विकासशील देशों के 80 से अधिक प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं. यहां तय हुए विकास के रोडमैप को जुलाई में जर्मनी के हैम्बर्ग शहर में होने वाले G-20 सम्मलेन में रखा जाएगा. G-20 की इस बैठक में वर्किंग ग्रुप के सदस्य देशों के वित्त मंत्रालय और केन्द्रीय बैंको के अधिकारी शामिल हैं.

बैठक का उद्घाटन वित्त मंत्रालय के सचिव शशिकांत दास ने किया. भारत और कनाडा इस बैठक की संयुक्त रूप से अध्यक्षता कर रहे हैं. भारत G-20 के आर्थिक फ्रेम वर्किंग ग्रुप (ऍफ़ डब्ल्यू जी) की बैठक की चौथी बार मेजबानी करने जा रहा है. इसके पहले यह साल 2012 में नीमराना, 2014 में गोवा, 2015 में केरल में हुआ और इस बार वाराणसी में हो रहा है. इस बैठक का एजेंडा ग्लोबल अर्थव्यवस्था को समावेशी बनाने पर केन्द्रित है.

इस सम्मलेन में सेंट्रल बैंक ऑफ अर्जेंटीना, बैंक ऑफ कनाडा, बैंक ऑफ इटली, बैंक ऑफ जापान, बैंक ऑफ रसिया, बैंक ऑफ कोरिया, बैंक ऑफ इंडोनेशिया ,साउथ अफ्रीका रिजर्व बैंक, बैंक आफ इंग्लैंड और स्विस नेशनल बैंक के अधिकारी मौजूद हैं. इस बैठक में ग्लोबल इकोनॉमी पर यानी आर्थिक चुनौतियों पर चर्चा की जाएगी. इसके अलावा वाराणसी के जिलाधिकारी बताते हैं कि बनारस की संस्कृति को जानने-समझने के लिए विदेश से आये डेलीगेट्स गंगा घाट और सारनाथ भी जाएंगे.

Share With:
Rate This Article