चरखी दादरी: सीएम की घोषणा के दो साल बाद भी इन गांवों में नहीं बना बस स्टैंड

चरखी दादरी

बाढड़ा के गांव झोझू कलां और कादमा में मिनी बस स्टैंड ना बनने से ग्रामीणों में रोष हैं…मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दो साल पहले दोनों गांव में मिनी बस स्टैंड बनाने की घोषणा की थी, लेकिन परिवहन विभाग ने पंचायत की तरफ से मिनी बस स्टैंड के लिए दी गई जमीन को अयोग्य बता कर प्रक्रिया को खारिज कर दिया है.

बता दें कि बाढड़ा हलके के झोझू कलां और कादमा गांव आज भी मिनी बस स्टैंड का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन अब उनका इंतजार पुरा नहीं होगा. क्योंकि अब इन गांवों में बस क्यू शैल्टर बनाए जाएंगे, जिसे लेकर दोनों गांव के लोगों में काफी गुस्सा है.

कादमा गांव के लोगों का कहना है कि सीएम की घोषणा के बाद पंचायत ने मिनी बस स्टैंड के लिए जमीन भी उपलब्ध करवाई थी, लेकिन प्रशासन ने इस मामले में लीपापोती कर पंचायत की जमीन को खारिज कर दिया. अब बस स्टैंड की जगह क्यू शैल्टर बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है, जो ग्रामीणों के साथ अन्याय है.

झोझु कलां के लोगों का कहना है गांव में महिला कॉलेज, आईटीआई और कई संस्थान हैं. साथ ही आसपास के गांव का निकास भी झोझुकलां से ही है. ऐसे में लोगों की सुविधा के लिए मिनी बस स्टैंड बनाना जरूरी है.

वहीं, बाढड़ा से बीजेपी विधायक सुखविंद्र मांढी ने कहा कि दोनों गांव की पंचायत ने बस स्टैंड के लिए जमीन दी थी और वो आयोग्य है. पंचायत से अन्य जगह की मांग की गई है और मिनी बस स्टैंड को लेकर वो खुद सीएम से मुलाकात करेंगे.

Share With:
Rate This Article