भोरंज उपचुनाव में इस्तेमाल किए जाएंगे वोटर वेरिफाइड प्रिंटिंग ऑडिट ट्रायल मशीन

हमीरपुर

उत्तर प्रदेश में भाजपा की प्रचंड जीत के चलते ईवीएम पर उठे सवालों का असर भोरंज उपचुनाव में दिखा है. केंद्रीय चुनाव आयोग ने भोरंज उपचुनाव में ईवीएम की वोटिंग को पुख्ता करने के लिए वोटर वेरिफाइड प्रिंटिंग ऑडिट ट्रायल मशीन (वीवीपीएटीएम) स्थापित करने का फैसला लिया है.

इससे वोटर को यह पता चल जाएगा कि उसके द्वारा दिया गया वोट किस प्रत्याशी को गया है. लिहाजा भोरंज विधानसभा उपचुनाव में पहली बार वीवीपीएटीएम मतदान के दौरान प्रयोग में लाई जाएगी.

राज्य चुनाव आयुक्त नरेंद्र चौहान ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि मतदान के दौरान ईवीएम का वोट के लिए बटन दबाने के पश्चात एक स्लिप प्रदर्शित होगी, इसमें मतदाता ने जिस चुनाव निशान पर बटन दबाया होगा, उसकी पूरी डिटेल मिलेगी, लेकिन इस स्लिप को मतदाता केवल देख ही सकता है. उसके पश्चात यह स्लिप एक लॉकर में चली जाएगी.

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त मदन चौहान का कहना है कि वोटर अपने मताधिकार का प्रयोग पहली बार नए सिद्धांत पर तैयार की गई वोटर इलेक्ट्रॉनिक्स मशीन के साथ जुड़ी वोटर वेरिफाइड प्रिंटिंग ऑडिट ट्रायल मशीन (वीवीपीएटीएम) के साथ करेंगे.

Share With:
Rate This Article