एसिड अटैक पीड़िता के सामने ली सेल्फी, वायरल होने पर तीन महिला कॉन्सटेबल सस्पेंड

लखनऊ में अस्पताल में भर्ती कथित गैंगरेप और तेजाब हमले की पीड़िता के सामने सेल्फी लेने वाली तीनों महिला कॉन्स्टेबल पर गाज गिर गई है. महिला कॉन्स्टेबलों के सेल्फी लेने का प्रकरण सोशल मीडिया पर वायरल होने पर राज्य पुलिस ने इन तीनों असंवेदनशील महिला पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की.

पीड़िता को एसिड पीने पर मजबूर किया गया था. वह मेडिकल कालेज में भर्ती है. उसके बेड के पास बैठी तीन महिला कॉन्स्टेबल के सेल्फी लेने की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. घटना का संज्ञान लेते हुए पुलिस महानिरीक्षक (लखनउ जोन) ए सतीश गणेश ने कहा कि इन असंवेदनशील पुलिसकर्मियों पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने पुलिस उप महानिरीक्षक और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया कि वे घटना का संज्ञान लें और कार्रवाई करें. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि हम फोटो की जांच करेंगे. विभागीय जांच के बाद निलंबन की कार्रवाई हो सकती है.

रायबरेली जिले के ऊंचाहार रेलवे स्टेशन पर गंगा गोमती एक्सप्रेस में सवार हुई महिला को मोहनलालगंज स्टेशन पर दो लोगों ने जबरन एसिड पिलाया था, जिसके बाद उसे मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया. राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आरोपियों भोंदू सिंह ओर गुडडू को गिरफ्तार कर लिया गया है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वयं किंग जार्ज मेडिकल विश्वविद्यालय गए और 45 वर्षीय महिला का हालचाल लिया. योगी द्वारा कथित गैंगरेप और एसिड हमले की शिकार महिला के मामले को गंभीरता से लेने के बाद पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.

Share With:
Rate This Article