ट्रंप को बड़ा झटका, ओबामाकेयर पर उनकी ही पार्टी के सांसदों ने दिया बड़ा झटका

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को ओबामाकेयर स्वास्थ्य नीति की जगह नया कानून पास कराने की कोशिशों को झटका बड़ा लगा है. ओबामाकेयर की जगह नए कानून के लिए संसद में वोटिंग होनी थी, लेकिन इस पर बहुमत ना मिलने की वजह से इसे वापस ले लिया है.

अमेरिकी निचली सदन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स के स्पीकर पॉल रयान ने इस पर वोटिंग नहीं कराने का फैसला किया. रेयान के मुताबिक, इस बिल को पारित कराने के लिए जरूरी रिपब्लिकन प्रतिनिधियों के जरूरी 216 वोट नहीं मिलेंगे, यह बात साफ होने के बाद उन्होंने डोनाल्ड ट्रंप की सहमति के बाद इस पर वोटिंग नहीं कराने का फैसला लिया.

नई स्वास्थ्य नीति से जुड़े इस बिल के पारित ना होने पर ट्रंप ने निराशा जाहिर की है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘मैं इससे चकित और निराश हूं. अब मैं अपने अगले एजेंडा ‘टैक्स सुधार’ को आगे बढ़ाऊंगा, जो कि मुझे पहले ही करना चाहिए था.’

बता दें कि अमेरिका में 435 सदस्यों वाली निचली सदन में रिपब्लिकन पार्टी को 235 सदस्यों के साथ बहुमत हासिल है. हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, करीब 35 रिपब्लिकन सासंदों इस बिल के खिलाफ थे. उनकी नाराजगी बिल में की गई कटौतियों को लेकर थी और इस वजह से सरकार को इस बिल को पारित कराने के लिए जरूरी समर्थन नहीं मिल सका.

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ने रिपब्लिकन सांसदों को इस नए स्वास्थ्य कानून को पास कराने के लिए अल्टीमेटम दिया था. रिपोर्ट्स के अनुसार, रिपब्लिकन सांसदों के साथ बंद कमरे में की गई एक बैठक में ट्रंप ने अपनी पार्टी के सहयोगियों को चेतावनी दी थी कि अगर वे ओबामाकेयर को बदलने के लिए स्वास्थ्य सेवा अधिनियम पास नहीं करते, तो वह ओबामाकेयर को बरकरार रहने देंगे.’

वहीं ट्रंप ने एक ट्वीट में कहा, ‘विनाशकारी ओबामाकेयर से कीमते ऊंची हुई हैं और बहुत कम विकल्प बचे हैं. इससे हालात का बदतर होना जारी रहेगा. हमें इसे निरस्त करके बदलना चाहिए. विधेयक को पास करें.

हालांकि ट्रंप की इस चेतावनी का सभी रिपब्लिकन सांसदों पर असर होता नहीं दिखा और यह बिल संसद में पास नहीं हो. ऐसे में इस कदम को ट्रंप के लिए बड़े झटके के तौर पर देखा जा रहा है. वहीं डेमोक्रेटिक पार्टी नेता नेन्सी पेलोसी ने इसे अमरीकी लोगों की जीत बताया है.

Share With:
Rate This Article