अमेरिका ने सौंपी 271 अवैध प्रवासियों की सूची, भारत का लिस्ट लेने से इनकार

दिल्ली

डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने 271 लोगों की एक सूची भारत सरकार को दी और दावा किया है कि वे भारत के अवैध प्रवासी हैं. सरकार ने शनिवार को अमेरिका से कहा कि वह उन 271 अवैध प्रवासियों के बारे में जानकारी मुहैया कराये, जिन्हें वह चाहता है कि भारत वापस ले.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा, “अमेरिकी अधिकारियों ने हमें कुछ समय पहले कहा था कि हमें उपलब्ध कराये गए आंकड़ों में से 271 मामलों का समाधान नहीं हुआ है. लेकिन इन मामलों की कोई जानकारी मुहैया नहीं कराई गई. हमने उसके बारे में जानकारी मांगी है.”

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कल संसद में कहा था, “हमने यह सूची स्वीकार नहीं की है एवं अधिक जानकारी मांगी है. हमने कहा है कि जानकारी की पुष्टि करने के बाद ही हम उन्हें भेजे जाने के लिए एक आपात प्रमाणपत्र जारी कर सकते हैं.”

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में प्रश्न काल के दौरान कहा था कि ट्रंप प्रशासन ने हाल ही में भारत सरकार को बताया था कि वह अमेरिका में अवैध रूप से रह रहे 270 से ज्यादा भारतीयों को निर्वासित करना चाहता है. भारत सरकार ने निर्वासन की अनुमति देने से पहले 271 लोगों की सूची पर और अधिक विस्तृत जानकारी अमेरिका से उपलब्ध कराने को कहा है.

स्वराज ने कहा, जब तक हम इन लोगों की राष्ट्रीयता का सत्यापन नहीं कर लेते तब तक हम उस सूची में दिए गए नामों पर कैसे भरोसा कर सकते हैं? उन्होंने बताया कि हमने अमेरिका से और विस्तृत जानकारी मुहैया कराने को कहा है, जिसके सत्यापन के बाद इनके प्रत्यर्पण के लिए इमरजेंसी सर्टीफिकेट जारी किए जाएंगे.

गौरतलब है कि अमेरिका में रह रहे भारतीयों पर हाल में में घृणा अपराध की कई वारदातें हुई हैं जिसको लेकर दोनों देशों के बीच संबंधों में थोड़ी खटास आई है.

वॉशिंगटन के प्यू रिसर्च सेंटर के अनुसार, अमेरिका में करीब 5 लाख से ज्यादा भारतीय अवैध रूप से रह रहे हैं. होमलैंड सिक्योरिटी आंकड़ों के मुताबिक, भारत और एशिया से आए कई लोग वीजावधि ख्त्म होने के बावजूद भी रह रहे हैं.

हालांकि ये आंकड़े प्रमाणित नहीं हैं. विदेश मंत्री ने बताया कि अमेरिका में बिना किसी दस्तावेज के रह रहे भारतीयों के आंकड़े प्रमाणित किए जाने की जरूरत है.

Share With:
Rate This Article