तालिबान से शांति समझौते के लिए प्रयास तेज, पाकिस्तान में हुई बैठक

इस्लामाबाद

पाकिस्तान ने 7 तालिबानी नेताओं से इस्लामाबाद में बैठक कर उनसे शांति के लिए बातचीत की मेज पर वापल लौटने को कहा है. तालिबान के दो नेताओं ने इस बैठक की जानकारी दी. बता दें कि अप्रैल में रूस में तालिबान के साथ शांति समझौते के लिए कई देशों के बीच वार्ता होनी है.

गौरतलब है कि इस्लामाबाद पर उसके देश में रह रहे तालिबान नेताओं से बातचीत के लिए अंतरराष्ट्रीय दबाव है. 2001 में अफगानिस्तान में अमेरिका के हमले के बाद ये तालिबानी नेता पाकिस्तान आ गए थे और तभी से यहां रह रहे हैं.

पाकिस्तान में हुई इस बैठक की जानकारी रखने वाले दोनों तालिबानी नेताओं ने बताया कि यह बैठक पिछले सप्ताह हुई थी. हालांकि पाकिस्तानी अधिकारियों ने इस बैठक की पुष्टि नहीं की है. अफगानिस्तान में पिछले एक दशक से चल रहे सुरक्षा बलों और तालिबान के बीच जारी परोक्ष युद्ध को शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाने की कोशिश में लगी है.

हालांकि, तालिबान से शांति के लिए बातचीत की कई कोशिश नाकाम ही साबित हुई है. पिछले साल पाकिस्तान, अफगानिस्तान, चीन और अमेरिका ने इस शांति प्रक्रिया को गति देने की कोशिश की थी, लेकिन काबुल में हुए कई धमाकों के बाद अफगानिस्तान ने पाकिस्तान में छिपे आतंकियों को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया था.

चीन, रूस और पाकिस्तान मॉस्को में होने वाली इस बैठक के सूत्रधार हैं. इस बैठक में ईरान और भारत भी हिस्सा लेंगे. हालांकि, अमेरिका की इस बैठक में हिस्सा लेने की पुष्टि नहीं हुई है.

Share With:
Rate This Article