MCD चुनाव 2017: सिर्फ ‘आम’ शब्द को कवर करना था, अधिकारियों ने केजरीवाल को भी नहीं छोड़ा !

दिल्ली चुनाव आयोग ने 2 दिन पहले दिल्ली में सभी होर्डिंग, बैनर, नेम प्लेट आदि से ‘आम’ शब्द ढकने/हटवाने के आदेश दिए थे, लेकिन अधिकारियों ने कार्रवाई न सिर्फ ‘आम’ बल्कि ‘आदमी’ और सीएम अरविंद केजरीवाल के फोटो तक ढक डाले. दिल्ली के कश्मीरी गेट के आम आदमी मोहल्ला क्लिनिक की तस्वीरों में देखेंगे तो पता चलेगा कैसे अधिकारियों ने चुनाव आयोग के हुक्म की तामील उसके आदेश से आगे बढ़कर कर डाली.

दरअसल, बीजेपी नेता विजेंद्र गुप्ता ने आपत्ति जताई थी कि दिल्ली सरकार की योजना आम आदमी मोहल्ला क्लिनिक, आम आदमी बायपास एक्सप्रेस सर्विस आदि से ‘आम आदमी’ शब्द हटाया जाए क्योंकि इससे आम आदमी पार्टी का प्रचार हो रहा है और दिल्ली में इस समय दिल्ली नगर निगम चुनाव के चलते ‘आदर्श आचार संहिता’ लागू है जिसका उल्लंघन हो रहा है इसलिये इन सभी से ‘आम आदमी’ को ठीक उसी तरह हटाया जाए जैसे 2012 में यूपी चुनाव में ‘हाथी’ ढंके गए थे क्योंकि वह बसपा का चुनाव चिन्ह था और 2017 में समाजवादी एम्बुलेंस सेवा से ‘समाजवादी’ शब्द हटाया गया क्योंकि इससे समाजवादी पार्टी का प्रचार होता था.
MCD चुनाव 2017: सिर्फ 'आम' शब्द को कवर करना था, अधिकारियों ने केजरीवाल कोभी नहीं छोड़ा !
गौरतलब है कि दिल्ली चुनाव आयोग ने दिल्ली के मुख्य सचिव को आदेश दिया था कि दिल्ली में जितने भी होर्डिंग, डिस्प्ले, बैनर आदि पर  ‘आम’ शब्द लिखा है उसको हटाएं या कवर करें. दिल्ली सरकार के अधिकार क्षेत्र में आने वाले ऐसे होर्डिंग/नेम प्लेट/बैनर आदि को हटाकर/ढंककर 48 घंटे के भीतर चुनाव आयोग को रिपोर्ट करें. दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने दिल्ली स्वास्थ्य सेवा के लिए आम आदमी मोहल्ला क्लिनिक, आम आदमी पालीक्लिनिक जबकि परिवहन सेवा आम आदमी बायपास एक्सप्रेस सर्विस चलाई हुई हैं.

Share With:
Rate This Article