कपिल शर्मा को हाईकोर्ट से राहत, अवैध निर्माण मामले में FIR पर लगाई रोक

दिल्‍ली

कपिल शर्मा को बॉम्बे हाई कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. हाईकोर्ट ने कपिल शर्मा के खिलाफ दर्ज एफआईआर पर रोक लगाते हुए बीएमसी को कपिल का पक्ष सुनने का आदेश दिया है. मामला कपिल के गोरेगांव स्थित फ्लैट से जुड़ा है.

कपिल पर आरोप है कि उन्होंने अपने फ्लैट में अवैध निर्माण कराया है. अदालत ने रोक का ये फैसला बीएमसी द्वारा कपिल शर्मा और अभिनेता इरफ़ान खान सहित कुल 13 लोगों के खिलाफ साल 2016 में जारी नोटिस वापस लेने पर दिया.

कपिल शर्मा और अभिनेता इरफ़ान खान सहित ईमारत के 13 लोगों के खिलाफ साल 2016 में बी एम सी ने अवैध निर्माण का नोटिस दिया गया था, जिसके खिलाफ कपिल शर्मा और बाकियों ने बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी. अदालत में कपिल ने बीएएमसी की कार्रवाई को गैरकानूनी और गलत मंशा से प्रेरित होने का आरोप लगाया.

कपिल ने अदालत को बताया था कि वो मामला पहले से सत्र न्यायालय में चल रहा है और सत्र न्यायालय ने आखिरी फैसला आने तक बीएमसी की कार्रवाई पर रोक लगाया हुआ है बावजूद इसके बीएमसी साल 2016 में फिर से नोटिस भेज रही है और एफ आई आर भी दर्ज करवा दिया है.

कपिल की तरफ से बताया गया कि गोरेगांव की 18 मंजिला इमारत को बीएमसी साल 2013 में सीसी और ओसी दे चुकी थी. लेकिन फिर, अचानक से नवंबर, 2014 को बीएमसी के बिल्डिंग और फैक्‍टरी डिपार्टमेंट ने नोटिस देकर बिल्डिंग के कुछ हिस्से को अवैध बताया. जिसे लेकर मामला सत्र न्यायालय में पहले से लंबित है.

Share With:
Rate This Article