CM कैप्टन ने कहा- मुख्य सचिव बदले जाएंगे, लेकिन डीजीपी पद पर बने रहेंगे

चंडीगढ़

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को संकेत दिए कि जून में शुरू हो रहे विधानसभा के बजट सत्र से पहले राज्य कैबिनेट का पहला विस्तार हो सकता है. कैप्टन ने 16 मार्च को नौ मंत्रियों के साथ मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी.

एक आधिकारिक विज्ञप्ति के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मंत्री-परिषद चुनने के लिए उन्हें पूरी आजादी दी है और उन्होंने चयन प्रक्रिया में वरिष्ठता, अनुभव और क्षेत्रीय समता को प्रमुख मानदंड के तौर पर रखा है.

अमरिंदर ने कहा कि वह सुनिश्चित करेंगे कि कैबिनेट में सभी क्षेत्रों को उचित प्रतिनिधित्व मिले, जिससे राज्य में चहुंमुखी प्रगति हो सके.

मुख्यमंत्री ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2017-18 का बजट पेश करने से पहले कैबिनेट का विस्तार किया जाएगा. उन्होंने यह संकेत भी दिए कि सरकार अगले हफ्ते सिर्फ लेखानुदान की मांगें पेश करेगी.

इससे पहले नवगठित विधानसभा का पहला सत्र शुक्रवार से शुरू होने वाला है, जो 19 मार्च तक चलेगा. विधानसभा के नव निर्वाचित सदस्य 24 और 27 मार्च को शपथ लेंगे. पंजाब विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव भी 27 मार्च को ही होगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि नौकरशाहों और अन्य कर्मियों सहित सभी सरकारी नियुक्तियों में अनुभव और पेशेवर रवैये को तरजीह दी जाएगी.

अमरिंदर ने कहा कि उनकी सरकार ने सुरेश अरोड़ा को पुलिस महानिदेशक बनाए रखने का फैसला किया है, क्योंकि वह एक पेशेवर शख्स हैं. उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव बदले जाएंगे क्योंकि पिछली सरकार के साथ उनकी ”नजदीकी” रही है.
उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार विभिन्न मंत्रालयों से संबद्ध संसदीय सचिवों की नियुक्ति के लिए एक विधेयक लाएगी.

Share With:
Rate This Article