मणिपुर विधानसभा में बीजेपी ने जीता फ्लोर टेस्ट, 33 विधायकों का मिला समर्थन

इंफाल

गोवा के बाद मणिपुर में भी बीजेपी सरकार ने बहुमत साबित कर दिया है. मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने सोमवार को विधानसभा में फ्लोट टेस्ट पास कर लिया. 60 सदस्यों वाली विधानसभा में 33 विधायकों ने उनकी सरकार को समर्थन दिया.

वहीं, बीजेपी के यमनम खेमचंद सिंह को विधानसभा का स्पीकर चुना गया है. बिरेन सिंह ने 16 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. मणिपुर में पहली बार बीजेपी की सरकार बनी है.

इसके पहले बीजेपी ने गुरुवार से ही एक निर्दलीय और एक तृणमूल कांग्रेस के विधायक समेत अपने सभी विधायकों को गुवाहाटी के एक होटल में रखा हुआ था. बीजेपी सरकार में मुख्यमंत्री बिरेन सिंह को मिलाकर कुल दो बीजेपी विधायक ही मंत्री बनाए गए हैं. जबकि NPP के चार, NPF, LJP के एक-एक और बीजेपी जॉइन करने वाले एक कांग्रेस विधायक को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है.

बीजेपी ने विधानसभा चुनाव में 21 सीटें जीती थीं और वह दूसरी सबसे बड़ी पार्टी थी, लेकिन छोटी पार्टियों और निर्दलीयों की मदद से उसने मणिपुर में अपनी पहली सरकार बना ली. 28 सीटें जीतकर सबसे बड़ा दल बनी कांग्रेस सरकार नहीं बना पाई.

बता दें कि 11 मार्च को आए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया था कि बीजेपी पांच में से चार राज्यों में सरकार बनाएगी. गोवा और मणिपुर में सबसे बड़ा दल न होने के बावजूद दोनों राज्य बीजेपी की झोली में चले गए.

Share With:
Rate This Article