दिल्ली मेट्रो में सफर करने वालों के लिए जरूरी खबर

दिल्ली मेट्रो रेल का किराया नगर निगम चुनाव के बाद बढना तय माना जा रहा है। लेकिन शहरी विकास मंत्रालय की तरफ से गठित चौथी किराया निर्धारण समिति ने न्यूनतम किराया 10 रुपये व अधिकतम 50 रुपये करने की जो सिफारिश दी है, उसमें किराया वृद्धि के साथ-साथ राहत की सिफारिश भी दी है।

ऑफ पीक ऑवर, रविवार और राष्ट्रीय अवकाश के दिन किराए में विशेष छूट मिलेगी। इससे यात्रियों को जहां कम किराए में यात्रा सुविधा मिलेगी। पीक ऑवर में भीड़ घटने की संभावना के अलावा मेट्रो ऑफ पीक ऑवर व छुट्टी के दिन खाली भी नहीं चलेगी।

समिति ने जनवरी, 2019 से महंगाई सूचीकांक से जुड़े फार्मूले के हिसाब से अधिकतम 7 फीसदी सालाना किराया वृद्धि की सिफारिश भी की है। अमर उजाला के पास मौजूद कमेटी रिपोर्ट के अनुसार अगर आप मेट्रो कार्ड धारक हैं तो ऑफ पीक ऑवर में यात्रा करने पर 10 फीसदी की अतिरिक्त छूट मिलेगी। मसलन 10 फीसदी की जगह 20 फीसदी सस्ते में यात्रा कर सकेंगे।

वहीं राष्ट्रीय अवकाश(गणतंत्र दिवस, स्वतंत्रता दिवस और गांधी जयंती) और रविवार को किराए में टोकन या स्मार्टकार्ड से यात्रा करने में 20 फीसदी से 50 फीसदी तक कम किराए में यात्रा मिलेगी।

2 किमी से 12 किमी तक की यात्रा महज 10 रुपये किराए पर कर सकेंगे तो अधिकतम 50 रुपये की जगह 40 रुपये होगा। सिफारिश को मंजूरी मिलने के बाद मेट्रो को ऑपरेशन सिस्टम में बदलाव के लिए 9 महीने का समय दिया जाएगा।

दो चरण में किराया लागू करने की रिपोर्ट
जस्टिस (रिटायर) एमएल मेहता की अगुवाई वाली समिति ने न्यूनतम किराया 8 रुपये से 10 रुपये व अधिकतम किराया 30 रुपये से 50 रुपये करने की सिफारिश दी है। दो चरण में किराया लागू करने की रिपोर्ट है, जिसमें पहली बार में अधिकतम किराया 50 रुपये जबकि एक साल बाद 60 रुपये करने की सिफारिश है। मेट्रो एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर किराया नहीं बढ़ाने की सिफारिश करने के साथ कहा है कि तीसरी समिति ने जो सिफारिश दी थी, उससे कम किराया अभी वसूला जा रहा है।

दिल्ली-एनसीआर में मेट्रो दैनिक 30 लाख यात्रियों को सेवा देती है। आने वाले दिनों में गाजियाबाद, नोएडा, बल्लभगढ़ तक मेट्रो विस्तार अगले एक साल में होगा। मसलन नए किराए का प्रभाव पूरे एनसीआर पर पड़ने वाला है।

वर्तमान में किराया स्लेब अधिक थे जिसे अब 6 स्लैब में करने की सिफारिश है। मसलन 32 किमी से अधिक दूरी की यात्रा करते हैं तो 50 रुपये का भुगतान करना होगा जबकि पहले 44 किमी तक और फिर 44 किमी से अधिक का अलग किराया था।

बोर्ड में दो बार मामला आ चुका है लेकिन अगली बैठक केलिए टाला गया है। इससे पहले दिल्ली मेट्रोरेल का किराया सितंबर, 2009 में बढ़ा था जब न्यूनतम किराया 6 रुपये से बढ़ाकर 8 रुपये और अधिकतम 22 रुपये से बढ़ाकर 30 रुपये किया गया था।

Share With:
Rate This Article