सीएम से बात नहीं होने से जाट नाराज, 20 मार्च को दिल्ली कूच करने की तैयारी

जाट नेताओं और सरकार के बीच होने वाली बैठक रद्द हो गई है, सरकार के साथ अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ग्रुप की एक बैठक होनी थी।

कहा जा रहा था कि जाट नेताओं की एक बैठक प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के साथ होगी, इसके बाद जाट नेताओं और सरकार के बीच एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस भी होनी थी खुद प्रदेश के मंत्री और जाट नेताओं से बातचीत के लिए सरकार द्वारा गठित कमेटी के अध्यक्ष रामबिलास शर्मा ने भी इस प्रेस कॉन्फ्रेंस की कल पुष्टि की थी, लेकिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल के इस बैठक में नहीं आने की खबर के बाद जाट नेताओं ने यह कहते हुए बैठक रद्द कर दी कि यह उनका अपमान है।

जाट नेताओं के साथ सरकार की यह बैठक शुक्रवार दोपहर 2 बजे दिल्ली के हरियाणा भवन में होनी थी लेकिन मुख्यमंत्री के इस बैठक में शामिल नहीं होने पर जाट नेताओं ने यह बैठक रद्द कर दी, जाट नेताओं ने प्रदेश की भाजपा सरकार पर उनका अपमान करने का आरोप लगाया है। जाट नेताओं ने कहा कि वह सिर्फ मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के साथ ही बात करेंगे।

इस सब घटनाक्रम के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि उनकी जाट नेताओं के साथ कोई भी मुलाकात तय नहीं थी, उन्होंने कहा कि बातचीत के लिए कमेटी का गठन किया गया है, उन्होंने कहा कि यदि जाट नेताओं को मुझसे ही बात करनी है तो मैं वार्ता के लिए तैयार हूं।

20 मार्च को जाट करेंगे दिल्ली कूच-
वही जाट नेता पहले से तय अपने कार्यक्रम के अनुसार 20 मार्च को दिल्ली कूच करेंगे और संसद का घेराव करेंगे, जाट नेता यशपाल मलिक कह चुके हैं कि यदि उन्हें रोकने की कोशिश की गई तो वह वहीं सड़क पर बैठ जाएंगे।

Share With:
Rate This Article