…तो क्या देवबंद हो जाएगा ‘देववृंद’

उत्तर प्रदेश के शहारनपुर स्थित देवबंद सीट से चुने गए बीजेपी विधायक बृजेश सिंह ने मुस्लिम बहुल इस इलाके का नाम बदल कर देववृंद करने की मांग की है. सिंह ने इस संबंध में विधानसभा में प्रस्ताव रखने की बात कही.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ब्रजेश सिंह का कहना है कि महाभारत काल में यह शहर देववृंद के नाम से ही जाना जाता था और पांडव अपने अज्ञातवास के दौरान यहां एक वर्ष तक रुके थे, जिसके प्रमाण सर्वविदित हैं.

बीजेपी विधायक सिंह ने कहते हैं, ‘हालांकि बाद मुगलों के दौर में इसका नाम बदल कर देवबंद कर दिया गया और इस्लामी तालीम का संस्थान दारुल उलूम यहां स्थापित किया गया.’ वह कहते हैं, ‘जब किसी जगह से महाभारतकालीन इतिहास जुड़ा है, तो फिर इसे बस एक स्कूल के नाम से ही क्यों जाना जाए? मैं विधानसभा में यह मुद्दा उठाऊंगा.’

देवबंद के आसपास बसे तीन गांवों से जुड़े ऐतिहासिक प्रणाम का हवाला देते हुए बृजेश कहते हैं, ‘यह कोई हिंदु-मुस्लिम का मुद्दा नहीं है. मेरे खुद का गांव जोदड़ाजत रणखांडी गांव का हिस्सा है. महाराभारत का रण यहीं से शुरु हुआ था. मेरठ के पास हस्तिनापुर से कुरुक्षेत्र के लिए पांडव मेरे गांव से होकर ही गुजरे थे.’

बता दें कि लखनऊ से करीब 150 किलोमीटर दूर स्थित देवबंद में इस्लामिक तालीम का सबसे बड़ा संस्थान हैं, जहां देश भर के मुस्लमान धार्मिक शिक्षा लेने आते हैं. मुस्लिम बहुल इस इलाके से बृजेश सिंह ने सपा और बसपा के मुस्लिम उम्मीदवारों को हराकर विधानसभा में पहुंचे हैं.

Share With:
Rate This Article