हिमाचल जाने वालों को जेब और ढीली करनी होगी, पढ़ें पूरी खबर

शिमला

दूसरे राज्यों से हिमाचल आने वाले सैलानियों को अब अपनी जेब और ढीली करनी पड़ेगी। प्रदेश सरकार ने राज्य के टोल बैरियरों की दरें बढ़ा दी हैं। पहली अप्रैल से वाहनों की एंट्री महंगी हो जाएगी। इस संबंध में आबकारी व कराधान विभाग ने नई दरों की अधिसूचना जारी कर दी है। आबकारी व कराधान विभाग को 55 टोल बैरियर से इस बार 102 करोड़ रुपए से अधिक की आय होने की उम्मीद है। सरकार द्वारा जारी की गई अधिसूचना के मुताबिक अब राज्य में आने वाली छोटी कारों को 30 रुपए की जगह 40 रुपए अदा करने पड़ेंगे। एक बार चुकाया गया टोल 24 घंटे के लिए वैध होगा। मोटर रिक्शा और स्कूटर रिक्शा से अब 30 रुपए लिए जाएंगे।

इन वाहनों को देने होंगे इतने रुपए
पब्लिक कैरियर के रूप में पंजीकृत कारों को अब 50 रुपए देने होंगे। बताया जाता है कि 12 सीटों वाले पैसेंजर वाहनों को 70 रुपए अदा करने होंगे। पब्लिक कैरियर के रूप में कार्य करने वाले ट्रैक्टर और वह ट्रैक्टर जो कृषि कार्य के अलावा दूसरे कार्यों में इस्तेमाल होता है, उन्हें भी बैरियर पर 50 रुपए देने होंगे। बैरियर से हर दिन और दिन में कई बार इधर-उधर जाने वाले और स्थानीय लोगों को रियायती पास मिलेंगे। आबकारी व कराधान विभाग ने पिछले वर्ष इन बैरियरों से 92 करोड़ रुपए का राजस्व का लक्ष्य रखा था, लेकिन इस बार इसे बढ़ाकर 102 करोड़ एक लाख 51 हजार 550 रुपए का लक्ष्य रखा है।

प्रदेश में स्थापित हैं 55 बैरियर, इस दिन होगी नीलामी
हिमाचल में प्रवेश करने वाले वाहनों से एंट्री फीस वसूलने के लिए शिमला, सोलन, सिरमौर, बिलासपुर, ऊना, चंबा और कांगड़ा जिला में कुल 55 टोल बैरियर स्थापित किए गए हैं। एक बार वसूली गई एंट्री फीस 24 घंटे के लिए मान्य होती है। साल 2017-18 के लिए हिमाचल सरकार 23 और 24 मार्च को बैरियरों की नीलामी करेगी।

Share With:
Rate This Article