बरेली के गांव में मुस्लिम्स को लेकर लगे विवादित पोस्टर्स, FIR दर्ज

उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार के शपथ ग्रहण से पहले ही मुस्लिमों के सिर पर आफत मंडराने लगी है। बरेली के एक गांव में पोस्टर लगाए गए हैं जिसमें मुस्लिमों को इस साल के आखिरी तक वहां का इलाका छोडऩे का आदेश दिया गया है। विवादित पोस्टर के बाद विवाद शुरू हो गया है। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी को बहुमत मिलने के बाद ये पोस्टर गांव में चिपकाए गए। इस गांव में लगभग ढ़ाई हज़ार लोग रहते हैं, जिनमें से मुसलमानों की संख्या 200 के आसपास है।

पोस्टर में लिखा मुसलमानों गांव छोड़ो
दरअसल बरेली से 70 किलोमीटर दूर एक गांव जियांगला में कुछ पोस्टर लगाए गए है, जिनमें लिखा है कि मुसलमानों को इस साल के अंत कर यह गांव छोड़ देना चाहिए। साथ ही इन पोस्टरों में यह भी लिखा गया है कि अमरीका में जो ट्रम्प कर रहे हैं, वही यहां भी किया जाएगा।

FIR दर्ज, की जा रही पूछताछ
हालांकि पुलिस ने दावा किया है कि गांव में कंप्यूटर से प्रिंट निकाल कर केवल एक पोस्टर चिपकाया गया था और यह किसी की शरारत भी हो सकती है। पुलिस ने फिलहाल इस मामले में एफआईआर दर्ज कर लिया है और कुछ लोगों से पूछताछ भी की गई है। पुलिस का कहना है कि गांव में स्थिति सामान्य है और एहतियात के तौर पर पुलिस की एक टुकड़ी गांव में तैनात कर दी गई है।

संगठनों की मांग दोषियों के खिलाफ हो कार्रवाई
इन पोस्टरों पर उठे विवाद के बाद कई संगठनों ने मांग की है कि इस तरह के घोर सांप्रदायिक पोस्टर लगाने वालों को भाजपा का संरक्षण प्राप्त है, जिसके कारण पुलिस कार्रवाई करने से बच रही है। इन संगठनों ने पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

Share With:
Rate This Article