धर्मगुरुओं को शरीफ की सलाह, ‘मस्जिदों से दें अमन का पैगाम’

आतंकवाद को पनाह देने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा है कि मस्जिदों के मंच का उपयोग शांति का संदेश फैलाने के लिए किया जाए। वे प्रमुख सुन्नी सेमिनरी जामिया नईमिया में बोल रहे थे। यहां इसके संस्थापक मौलाना सरफराज नईमी की आठवीं बरसी थी। नईमी की आतंकियों ने हत्या कर दी थी।

शरीफ ने कहा, धर्मगुरुओं और विद्वानों को इस्लाम की सच्ची शिक्षा फैलानी चाहिए। उन्हें अनबन और मतभेद के बीज बोने वालों के खिलाफ उठना चाहिए। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने आतंकियों के खिलाफ सख्त कदम उठाए हैं और आतंकवाद की कमर तोड़ दी है। उन्होंने धर्मगुरुओं से अपील की कि वे उनकी इस लड़ाई को निर्णायक अंत तक ले जाएं।

Share With:
Rate This Article