लिव इन रिलेशनशिप में रहने वाली लड़कियां होती हैं घरेलू हिंसा का शिकार- रिपोर्ट

चंडीगढ़

ट्राईसिटी (चंडीगढ़, पंचकूला और मोहाली) में अपने मित्रों के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहने वाली लड़कियों के साथ घरेलू हिंसा के मामले बढ़ते जा रहे हैं। वे अपने पार्टनर के अत्याचार का शिकार बन रही हैं। परिवार का समर्थन नहीं मिलने से ज्यादातर मामलों में वे चुप रहने को बाध्य हो जाती हैं।

पुलिस के अनुसार गत दिसम्बर में 218, जनवरी 2017 में 330 व फरवरी में 277 लड़कियों ने शिकायत दर्ज करवाई।  कई लड़कियां इस डर से मामला दर्ज करवाने नहीं आती कि उनके व्यक्तिगत संबंधों के बारे में परिवार को पता चल जाएगा। इसलिए वे नर्वस रहती हैं व अकेली पड़ जाती हैं। एक सोशल एक्टिविस्ट का मानना है कि लिव इन रिलेशनशिप व्यक्ति परक मामला है जो सबके लिए काम नहीं करता। यह एक सामाजिक-सांस्कृतिक संरचना है।

Share With:
Rate This Article