यूपी में बीजेपी का 14 साल का वनवास खत्म, मिला प्रचंड बहुमत

लखनऊ

शनिवार को आए पांच राज्यों के चुनाव परिणाम ने बड़ा राजनीतिक उलटफेर किया है. यूपी में भाजपा को जहां प्रचंड बहुमत मिला, वहीं उत्तराखंड में वो फिर से सत्ता पर काबिज हो गई है. हालांकि बुरी गत में पहुंच चुकी कांग्रेस को पंजाब ने राहत की मरहम लगायी है.

गोवा में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनी, पर सत्ता से थोड़ी दूर है. देश के सबसे बड़े राज्य यूपी में जीत के साथ प्रधानमंत्री मोदी ने नि:संदेह खुद को प्रमुख नेता के तौर पर स्थापित कर लिया है.

आखिरकार राजनीतिक दृष्टि से देश के सबसे महत्वपूर्ण राज्य उत्तर प्रदेश में भाजपा का वनवास खत्म हो गया. 15 साल बाद ‘कमल’ ने सत्ता में धमाकेदार वापसी कर नया इतिहास रचा. बिखरे विपक्ष को पार्टी ने जहां धूल चटा दी, वहीं इस आरोप को भी खारिज कर दिया कि नोटबंदी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता में कमी आयी है. उत्तर प्रदेश में पिछले डेढ़ दशक में सपा व बसपा की सरकारें रहीं थीं.

उत्तराखंड में भाजपा की शानदार वापसी हुई है. कांग्रेस को पंजाब में सांत्वना पुरस्कार से संतोष करना पड़ा है, जहां उसकी सरकार बनेगी. वहीं गोवा में कांग्रेस ने प्रदर्शन बेहतर किया है, लेकिन यहां किसी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है.

उत्तर प्रदेश में 403 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा को अकेले 312 सीटें मिलीं. वहीं भाजपा अपने सहयोगी दलों अपना दल व सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के साथ 325 सीट मिली. इस तरह आसानी से 403 सदस्यीय सदन में दो तिहाई बहुमत हासिल कर लिया. इधर, यूपी में सपा-कांग्रेस गंठबंधन को मात्र 55 सीटें मिलीं, जबकि मायावती की बसपा केवल 19 सीटों पर सिमट गयी.

Share With:
Rate This Article