फिर सामने आई पाकिस्तान की बौखलाहट, कहा- भारत कर रहा है जासूसी

इस्लामाबाद

पाकिस्तान ने दावा किया है कि भारत ने अमेरिका में बने ड्रोन्स एलओसी पर तैनात कर दिए हैं। पाक के डिफेंस एक्सपर्ट का मानना है कि इससे इलाके में हालात बिगड़ेंगे। उधर भारत की ओर से इस पर कोई बयान नहीं आया है।

पुंछ और राजौरी में किए हैं तैनात
– पाकिस्तान के सूत्रों का दावा है कि ये ड्रोन्स एलओसी से लगे पुंछ और राजौरी इलाके में तैनात किए गए हैं। ये नाइट विजन कैमरे से लैस हैं।
– “इन ड्रोन्स का डाटा सेंटर श्रीनगर में बनाया गया है, जहां से (पाकिस्तानी) सेना की तैनाती पर नजर रखी जा रही है।”
– मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत-पाकिस्तान के रिश्तों में पहले से ही तनातनी है, जो ड्रोन्स की इस तैनाती से बढ़ेगी, साथ ही अमेरिका और पाकिस्तान के रिश्तों पर भी असर पड़ेगा।

US ने PAK को यह ड्रोन्सदेने से किया था मना
– पाकिस्तान इसलिए भी नाराज है, क्योंकि बार-बार गुजारिश करने के बाद भी अमेरिका ने उसे यह ड्रोन्स देने से मना कर दिया था।
– एम्बेसडर रहे अली नकवी ने कहा, “यह गंभीर चिंता का विषय है।”
– उन्होंने कहा कि ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन के वक्त अमेरिका-भारत के बीच एक स्ट्रैटजिक पार्टनरशिप पर दस्तखत किए गए थे। मुमकिन है कि भारत ने इसी एग्रीमेंट के तहत ये ड्रोन्स हासिल किए हों।
– नकवी की सलाह है कि पाक गवर्नमेंट को यह मसला अमेरिका के सामने उठाना चाहिए। साथ ही ड्रोन्स की तैनाती के नतीजों से निपटने के पहले से जरूरी इंतजाम करने होंगे।

सेना का दावा भारत का ड्रोन्समार गिराया था
– सेना की मीडिया विंग का दावा है कि जुलाई 2016 में भी पाकिस्तान आर्मी ने भारत के जासूस ड्रोन को मार गिराया था। इसे एरियल फोटोग्राफी के लिए इस्तेमाल किया जा रहा था।
– सेना को गोला-बारूद सप्लाई करने वाली पाकिस्तान ऑर्डिनेंस फैक्ट्रीज के हेड रहे रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल तलत मसूद का मानना है कि ड्रोन्स की तैनाती से भारत-पाकिस्तान के बीच जंग का खतरा बढ़ेगा।
– पाकिस्तान मीडिया से उन्होंने कहा, “ड्रोन्स जो कि पाकिस्तान में कहीं भी पहुंच सकते हैं, जाहिरतौर पर इनकी तैनाती से टेंशन और आग भड़कने का जोखिम बढ़ेगा।”

Share With:
Rate This Article