DRS विवाद को लेकर BCCI और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया आमने-सामने

दिल्ली

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ के डीआरएस विवाद से जुड़े मामले में बीसीसीआई और सीए (क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया) खुलकर एक-दूसरे के आमने-सामने हैं. विराट के आरोपों से ति‍लमिलाए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख जेम्स सदरलैंड ने ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम पर ‘सीमा लांघने’ के आरोपों का खंडन करते हुए भारतीय कप्तान के बयान को अपमानजनक बताया था.

अब बीसीसीआई इस मामले में खुलकर विराट के समर्थन में उतर आया है. बीसीसीआई ने बयान जारी कर कहा, वीडियो रिप्ले देखने और विचार-विमर्श के बाद बोर्ड पूरी तरह कप्तान विराट और भारतीय के साथ है. कोहली अनुभवी और परिपक्व क्रिकेटर हैं और मैदान पर उनका व्यवहार अनुकरणीय रहता है. कोहली के कदम को अंपायर नाइजले लांग का समर्थन था, जो स्मिथ को अनुचित मदद लेने से रोकने के लिए दौड़े थे.

सदरलैंड ने कहा, ‘ये सभी आरोप स्मिथ की छवि, ऑस्ट्रेलियाई टीम और ड्रेसिंग रूम पर सवाल खड़े कर रहे हैं. टीम के कप्तान एक बेहतरीन क्रिकेटर और इंसान हैं और वह कई उभरते क्रिकेट खिलाड़ियों के प्रेरणस्रोत हैं. हमें पूरा विश्वास है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है.’ ऑस्ट्रेलियाई कोच डैरेन लीमैन ने कहा है कि उनकी टीम सही तरीके और सकारात्मक भावना के साथ मैच खेल रही है.

इन आरोपों का खंडन करते हुए लीमैन ने कहा है कि कोहली के आरोपों से उन्हें बड़ी हैरानी हुई है. सीए की ओर से जारी एक बयान में उन्होंने कहा,’ऐसा कुछ भी नहीं हुआ था. कोहली अपने विचार रख सकते हैं और हम अपने. हालांकि अंत में यही बात सही है कि हमने खेल को सही तरीके से खेला है.’

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने मंगलवार को बंगलुरु टेस्ट की समाप्ति के बाद आरोप लगाया कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने मैच के दौरान कई बार डीआरएस के इस्तेमाल के लिए ड्रेसिंग रूम में बैठे सहयोगी स्टाफ की मदद ली, जो लैपटॉप और टीवी पर नजरें टिकाए हुए थे.

बीसीसीआई ने आईसीसी से इस तथ्य को देखने के लिए अनुरोध करते हुए कहा है कि स्टीव स्मिथ ने खुद प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह स्वीकारा था कि वे कुछ क्षणों के लिए नियम के बारे में भूल गए थे. हम यह उम्मीद करते हैं कि सीरीज के शेष मैच खेल भावना के साथ खेले जाएंगे.

Share With:
Rate This Article