डॉक्टर की लापरवाही के कारण नवजात की जान गई

प्रसूति केस दौरान महिला डाक्टर की अंदेखी से नवजात बच्चे मृत्यु पर पीड़ित परिवार द्वारा सिविल अस्पताल हरचोवाल में इंसाफ लेने के लिए चक्का जाम करके आरोपी डाक्टर के विरुद्ध मामला दर्ज करने की मांग की।

पीड़ित महिला बलजीत कौर के पत्नी सुखदीप सिंह ने बताया कि वह 3 मार्च को सरकारी अस्पताल हरचोवाल में प्रसूति केस संबन्धी दाखिल हुए थे तो डयूटी दौरान महिला डा. सहलजा जुलका ने संजीदगी नहीं दिखाई जिस पर महिला को लेबर पेन होने कारण उसे सरकारी अस्पताल गुरदासपुर रैफर कर दिया गया और न ही कोई मैडीकल सहायता प्रदान की गई जिस कारण नवजात बच्चे लड़के की जन्म दौरान मृत्यु हो गई।

पीड़ित लड़की की दादी निर्मलजीत कौर ने बताया कि हमने 104 हैल्पलाइन नंबर पर घटना की जानकारी दी, लेकिन लंबा समय गुजरने के बावजूद इंसाफ नहीं मिला जिस कारण गांव निवासियों के सहयोग से हरचोवाल चौंक में चक्का जाम करना पड़ा। परिवारिक सदस्यों ने मांग की है कि डाक्टर के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए उसे डयूटी से हटा दिया जाए। मौके पर पहुंचे नायब तहसीलदार कादियां, एस.एच.ओ. श्रीहरगोबिंदपुर अमोकल सिंह, डी.एस.पी. गुरविन्द्र सिंह ढिल्लो, एस.एच.ओ. हरभजन सिंह ने धरनास्थल पर पहुंच कर आश्वासन दिया कि हमें लिखित शिकायत की जाए जिसके आधार पर डाक्टर के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

इस संबन्धी जब एस.एम.ओ.हरभजन सिंह से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और शिकायत मिलने पर बोर्ड बनाकर कार्रवाई की जाएगी। इस संबन्धी जब महिला डाक्टर से संपर्क किया गया तो उनका फोन बंद आ रहा था।

Share With:
Rate This Article