न्यूजीलैंड में भारतीय पर हमला, फेसबुक पर लाइव किया हैरासमेंट वीडियो, आप भी देखिए

अमेरिका में भारतीयों पर हमले की घटनाओं के बीच न्यूजीलैंड के ऑकलैंड में एक इंडियन के साथ रोडरेज का मामला सामने आया है। इस घटना में भारतीय शख्स नरिंदरवीर सिंह नाम को न्यूजीलैंड के एक शख्स ने सड़क पर नस्ली शब्द कहे और अपने वतन लौट जाने को कहा। ये घटना पिछले हफ्ते हुई। रोडरेज के शिकार शख्स ने हैरेसमेंट का वीडियो फेसबुक पर लाइव स्ट्रीम कर दिया था। एक दूसरे मामले में भी एक भारतीय को देश लौट जाने की धमकी दी गई थी। दोनों ही मामलों की शिकायत पुलिस डिपार्टमेंट से की गई है।

वीडियो देखने के लिए क्लिक करें

वो मुझे घायल कर सकता था- नरिंदरवीर
– न्यूज एजेंसी की खबर के मुताबिक, नरिंदरवीर सिंह ने कहा कि वो शख्स मुझे किसी हथियार से घायल कर सकता था।
– नरिंदरवीर ने कहा, “मैं कार चला रहा था। मैंने पीछे आ रही सफेद कार को निकलने की जगह दी, लेकिन उसमें बैठी महिला ने भद्दा इशारा किया। उसके बाद ग्रे टीशर्ट पहने एक शख्स कार से उतरा और मुझे धमकाने लगा। रेसिस्ट कमेंट्स किए और मुझे गलत नामों से बुलाया। इस शख्स ने पंजाबियों के बारे में भी अपमानजनक बातें कहीं।”
– “मैंने कार एकदम किनारे लगा दी थी और अंदर से ही वीडियो रिकॉर्ड कर रहा था। मैं एकदम शॉक्ड था। मैं उससे कह रहा था कि तुम फेसबुक पर लाइव हो। लेकिन वह पीछे नहीं हटा। जब वो गया तो मैं बुरी तरह कांप रहा था। मैं नहीं समझ पा रहा था कि क्या करूं। इस घटना ने बुरी तरह मेरा दिल दुखाया है।”

एक और भारतीय के साथ हुई थी घटना
– नरिंदरवीर ने कहा कि जब वो चला गया तो मुझे लगा कि मामला खत्म हो गया है। लेकिन, जब मैंने पास की ही सड़क पर गाड़ी पार्क की तो वो शख्स दोबारा लौट आया और फिर नस्ली टिप्पणियां कीं और गालियां दीं।
– न्यूजीलैंड में हाल ही में एक और शख्स के साथ इसी तरह रोडरेज का मामला सामने आया था। बिक्रमजीत सिंह नाम के इस शख्स से कहा गया था, “अपने वतन लौट जाओ, गाड़ी धीमी करो। तुम्हें पता है कि यहां स्पीड लिमिट क्या है।”
– बिक्रमजीत ने बताया, “मैं गाड़ी धीमी चला रहा था। मैं न्यूजीलैंड में एक दशक से ज्यादा अरसे से रह रहा हूं।”

ई-मेल लिखकर माफी मांगी
– बिक्रमजीत को वतन वापस लौटने की धमकी देने वाले शख्स ने ई-मेल लिखकर माफी मांगी।
– शख्स ने कहा कि उसने उस दिन सुबह ज्यादा शराब पी ली थी, जिसकी वजह से ये घटना हुई।
– माइग्रेंट वर्कर्स एसोसिएशन के अनु कालोटी का कहना है कि अब ऐसी घटनाएं पहले से कहीं ज्यादा हो रही हैं। ये हमारे लिए चिंता की बात है।
– अनु ने कहा, “मुझे लगता है कि सोसायटी इनटॉलरेंट हो गई है, खासतौर से जबसे डोनाल्ड ट्रम्प यूएस में प्रेसिडेंट चुने गए हैं।

Share With:
Rate This Article