अमेरिकी रिपोर्ट में दावा: भारत में धार्मिक स्वतंत्रता पर पाबंदी, मानवाधिकार की समस्याएं

अमेरिका ने ने अपनी एक रिपोर्ट में भारत में मानवाधिकार की महत्वपूर्ण समस्याओं के रूप में विदेशी चंदे से चलने वाली एनजीओ और धार्मिक स्वतंत्रता पर पाबंदी तथा भ्रष्टाचार तथा पुलिस एवं सुरक्षा बलों की ज्यादती की घटनाओं की मिसाल दी.

ट्रंप सरकार के शासनकाल में पहली बार जारी हुई ‘वार्षिक कंट्री रिपोट्र्स आन ह्यूमन राइट पे्रक्टिसेज 2016’ में इन कारणों को गिनाया है.

रिपोर्ट मे कहा गया कि पिछले साल भारत में लोगों के गायब हो जाने, जेलों की घातक स्थिति तथा अदालतों पर मामलों के बोझ के कारण न्याय में विलंब मानवाधिकार की अन्य समस्याओं में शामिल हैं.

रिपोर्ट में आगे कहा गया, सबसे महत्वपूर्ण मानवाधिकार समस्याओं में पुलिस एवं सुरक्षा बलों की ज्यादती जिनमें गैर कानूनी ढंग से जान लेने, उत्पीड़न, बलात्कार शामिल हैं.

यह समस्याएं व्यापक स्तर पर बनी हुई हैं तथा इनके चलते महिलाओं, बच्चों तथा अनुसूचित जाति एवं जनजातियों के खिलाफ होने वाले अपराधों के खिलाफ निष्प्रभावी कार्रवाई को और बल मिलता है. इसके अलावा सामाजिक हिंसा भी एक समस्या है जो लिंगभेद, धार्मिक संबद्धता, जाति या कबीले के कारण की जाती है.

Share With:
Rate This Article