जंतर मंतर पर जाट आंदोलनकारियों का प्रदर्शन खत्म, राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन

दिल्ली

आरक्षण समेत कई मुद्दे को लेकर धरने पर बैठे जाट समुदाय के लोगों ने आज दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन किया. इस दौरान देशभर से जाट समुदाय के लोग जंतर मंतर पहुंचे.

इसके बाद जाट आंदोलनकारियों ने अपनी मांगों को लेकर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और पीएम मोदी के नाम ज्ञापन सौंपा. वहीं, सरकार ने भी प्रदर्शन को लेकर पूरी तैयारियां की थीं और किसी भी हालात से निपटने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया था.

भिवानी के धनाना गांव में धरने पर बैठे जाट समुदाय के लोगों ने सौ से ज्यादा गाड़ियां बुक कराई थी. जिनमें सवार होकर दिल्ली का घेराव करने पहुंचे थे.

सुरक्षा के मद्देनजर भारी सुरक्षा बल तैनात

सुरक्षा के मद्देनजर भारी सुरक्षा बल तैनात

इससे पहले, हांसी पहुंचे जाट नेता यशपाल मलिक ने कहा कि होली के बाद आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी. उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोई भी जाट बिजली और पानी का बिल ना भरे और उन लोगों की दुकानों से सामान ना खरीदे जो जाटों का समर्थन नहीं करते.

उन्होंने कहा कि 50 लाख जाट दिल्ली का घेराव करेंगे. वहीं, जाट समुदाय ने अपनी मांगों को लेकर असहयोग आंदोलन शुरू कर दिया है. दिल्ली में दूध और सब्जियों की सप्लाई रोकी जा रही है.

Share With:
Rate This Article