निर्भया केस के बाद पहली बार 2 नाबालिगों को उम्रकैद, पढ़ें पूरी खबर

एक छात्र की चाकू से गोदकर हत्या के मामले में दो किशोरों को उम्रकैद के साथ 15-15 हजार के पैनल्टी की सजा सुनाई है। निर्भया गैंगरेप केस के बाद यह देश का पहला मामला है, जिसमें दो नाबालिगों को उम्रकैद की सजा हुई है। मामले की गंभीरता और जुवेनाइल जस्टिस एक्ट में हुए सुधार के मुताबिक दोनों किशोेरों की मैटेलिटी और मैच्योरिटी की जांच कराई गई थी। इसमें पता चला कि वे जानते हैं कि क्राइम कितना सीरियस है और इसका नतीजा क्या होगा। लिहाजा जुवेनाइल कोर्ट ने यह केस सेशन कोर्ट भेज दिया।

18वें दिन पुलिस ने कोर्ट में चालान पेश कर दिया था
– एडीशनल सेशन जज एए खान की कोर्ट में एडल्ट क्रिमिनल्स की तरह सुनवाई करते हुए 20 जनवरी को दोनों के खिलाफ धारा 302, 34 और आर्म्स एक्ट में आरोप तय किए गए थे।
– केस की खास बात यह भी है कि घटना के 18वें दिन पुलिस ने कोर्ट में चालान पेश कर दिया और गवाही शुरू होने के 23वें दिन मंगलवार को कोर्ट ने फैसला सुना दिया।
– डिस्ट्रिक्ट पब्लिक प्रोसिक्यूशन ऑफिसर सौभाग्यसिंह खिंची और डिप्टी डायरेक्टर प्रोसिक्यूशन केएस मुवैल ने बताया की सबूतों और गवाहों के आधार पर कोर्ट ने दाेषी बबलू (17) और राजा उर्फ राजकुमार (16 वर्ष 6 माह) को उम्रकैद और 10-10 हजार जुर्माने की सजा दी है।
– आर्म्स एक्ट में तीन-तीन साल कैद और 5-5 हजार जुर्माने की भी सजा सुनाई। क्योंकि मामला अपर सत्र न्यायालय में चला है इसलिए इनकी पहचान उजागर की जा सकती है।

घटना एक नजर में
– 5 दिसंबर, 16 चाकू मारकर स्टूडेंट की हत्या।
– 18 दिन में पुलिस ने कोर्ट में चालान पेश किया।
– 6 जनवरी, 17 को प्रकरण जुवेनाइल कोर्ट से सेशन कोर्ट में ट्रांसफर।
– 6 फरवरी से गवाही शुरू, 23वें दिन में कोर्ट ने सुनाया फैसला।
800 रुपए के लिए हत्या
– 15 साल के स्टूडेंट राधू पालिया अयोध्या बस्ती में किराए से रहता था।
– 5 दिसंबर को स्कूल की छुट्टी के बाद कमरे पर जा रहा था।
– उससे अयोध्या बस्ती के बबलू व मारुति नगर के सोनटिया ने रोककर 800 रुपए मांगे।
– राधू ने इनकार किया तो बबलू ने चाकू निकालकर हमला कर दिया। इसके बाद दोनों भाग गए।
– राधू की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।
– दोनों नाबालिग थे इसलिए जांच के बाद घटना के 18वें दिन जुवेनाइल कोर्ट में चार्जशीट पेश की गई।

Share With:
Rate This Article